LIVE TVMain Slideदेशबिहारसाहित्य

बिहार : 17 जनवरी यानि आज से 1200 नियोजन इकाइयों के अभ्यर्थियों की काउंसलिंग शुरू कराए जाने का लिया फैसला

नौकरी की आस लगाए बिहार के शिक्षक अभ्यर्थियों के लिए इंतजार की घड़ियां खत्म हो गई हैं. शिक्षा विभाग ने सोमवार (17 जनवरी) से 1200 नियोजन इकाइयों के अभ्यर्थियों की काउंसलिंग शुरू कराए जाने का फैसला लिया है.

Loading...

94000 प्रारंभिक शिक्षकों की नियुक्ति के छठे चरण में इन 1200 नियोजन इकाइयों के लिए 12495 पदों पर काउंसलिंग शुरू हो रही है जो 28 जनवरी तक चलेगी.

करोना के मद्देनजर काउंसलिंग केंद्र पर केवल अभ्यर्थियों और नियोजन प्रक्रिया के प्रतिनिधियों को ही प्रवेश करने का मौका मिल सकेगा. काउंसलिंग प्रक्रिया की वीडियोग्राफी और कोरोला प्रोटोकॉल का सख्ती से अनुपालन करने का निर्देश शिक्षा विभाग द्वारा दिया गया है.

17 जनवरी- नगर निकाय नियोजन इकाई के सामाजिक विज्ञान विषय में कक्षा 6-8 के लिए शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग जिला मुख्यालय में होगी.
18 जनवरी- जिला मुख्यालय में गणित, विज्ञान एवं भाषा में कक्षा 6 से 8 के लिए और 19 जनवरी को जिला मुख्यालय में कक्षा 1 से 5 के लिए शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग होगी.
22 जनवरी- प्रखंड नियोजन इकाई के सामाजिक विज्ञान विषय में कक्षा 6 से 8 के लिए अभ्यर्थियों की काउंसलिंग जिला मुख्यालय में होगी.
24 जनवरी- जिला मुख्यालय में गणित, विज्ञान एवं भाषा विषय में कक्षा 6 से 8 के लिए और 25 जनवरी को जिला मुख्यालय में कक्षा 1 से 5 के लिए काउंसलिंग होगी.
28 जनवरी- पंचायत नियोजन इकाई के कक्षा 1 से 5 के लिए शिक्षक अभ्यर्थियों की काउंसलिंग प्रखंड मुख्यालय में होगी.

शिक्षा मंत्री के मुताबिक, 25 फरवरी को सभी नवनियुक्त शिक्षकों को एकसाथ नियुक्ति पत्र दिए जाएंगे। मंत्री ने सभी जिलाधिकारी (डीएम) और जिला शिक्षा पदाधिकारी (डीईओ) के साथ 1200 नियोजन इकाइयों में होने वाली काउंसलिंग की तैयारियों का जायजा लेने के लिए पहले ही निर्देश दे दिया है.

जानकारी के मुताबिक जुलाई और अगस्त महीने में कुल 85,920 प्रारंभिक शिक्षकों के रिक्त पद पर काउंसलिंग की गई थी, और इसके विरुद्ध 38,014 शिक्षक अभ्यर्थी चयनित किये गए हैं जो कि महज 44.23 फीसदी है.

वहीं, 47,906 पद अर्थात 55.756 प्रतिशत फिर भी रिक्त रह गए हैं. इनमें प्राथमिक शिक्षकों के 62,714 पदों में से 36,428 जबकि मध्य विद्यालय के 23,206 पदों में से 11,478 रिक्त रह गये हैं.

मध्य विद्यालय शिक्षकों में से हिंदी के 2714, उर्दू के 1530, संस्कृत के 2884, अंग्रेजी के 1487, गणित के 2452 और सामाजिक विज्ञान के 411 पद खाली रह गए हैं.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV