प्रदेशबिहार

कुख्यात को पकड़ने पहुंची पुलिस, गाड़ी का शीशा खोला तो देखकर शर्म से झुकी आंखें

 पुलिस ने शहर में बड़े सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ किया है। इसमें शामिल तीन बदमाशों के साथ एक युवती को भी गिरफ्तार किया गया है। युवती की निशानदेही पर इशाकचक थाने से सटे शिव भवन कंपाउंड से आसनसोल की तीन कॉल गर्ल को हिरासत में लिया गया है। पुलिस को कमरे और गाड़ी से कंडोम, शक्तिवर्धक दवाएं, गर्भनिरोधक गोलियां और शराब की बोतलें मिली हैं। 

Loading...

पुलिस ने बरारी में 10 अप्रैल को लोदीपुर के चौधरीडीह निवासी प्रॉपर्टी डीलर मनोज यादव की हत्या में शामिल शूटरों की गिरफ्तारी के लिए मंगलवार की रात जाल बिछाया था। इसी दौरान पुलिस को बरारी में एक बिना नंबर की एसयूवी गाड़ी में शूटरों के होने की जानकारी मिली।

पुलिस ने खदेड़कर गाड़ी समेत उसमें बैठे तीन अपराधियों को गिरफ्तार कर लिया। जिनकी पहचान रेलवे कॉलोनी बरारी के विक्की कुमार, खंजरपुर के सुबोध पासवान और सुरखीकल के फंटूस तांती के रूप में हुई है। तीनों अपराधियों के साथ आसनसोल की एक युवती भी पकड़ी गई है।

पूछताछ में तीनों ने बताया कि वे सभी मुजाहिदपुर के मारुफचक, अंबे के रहने वाले अनिल कुमार साह के इशारे पर शहर में सेक्स रैकेट चलाते हैं। 

मनोज हत्याकांड में है संलिप्तता

एसएसपी आशीष भारती ने बताया कि गिरफ्तार अपराधियों का मनोज हत्याकांड में संलिप्तता के बिंदु पर भी जांच चल रही है। वहीं पुलिस सूत्रों की मानें तो मनोज हत्याकांड में जांच के दौरान उक्त आरोपितों की भूमिका सामने आई है।

गिरफ्तार अपराधियों के साथ पकड़ी गई लड़की की निशानदेही पर सिटी डीएसपी सहरियार अख्तर के नेतृत्व में इशाकचक पुलिस ने शिव भवन कंपाउंड स्थित राजेश सहाय के घर में छापेमारी की। वहां एक कमरे से पुलिस ने आसनसोल की तीन लड़कियों को हिरासत में लिया। उसी कमरे से अनिल साह लड़कियों को होटलों और अन्य लोगों को सप्लाई करता था। 

पकड़े गए बदमाश चला रहे थे बड़ा गिरोह 

पुलिस की मानें तो पकड़े गए अपराधी अनिल साह के साथ मिलकर जिले में बड़े पैमाने पर जिस्मफरोशी का धंधा कर रहे थे। पुलिस को इस मामले में पकड़ी गई लड़कियों से कई चौंकाने वाली जानकारियां मिली हैं।

उन्होंने इस धंधे में लिप्त शहर के कई बड़े चेहरे का नाम बताया है। शहर के एक व्यस्ततम चौक पर स्थित एक बड़े होटल समेत स्टेशन और अन्य इलाके के होटलों और मकानों में उन लोगों ने सर्विस देने की बात स्वीकारी है।

हिरासत में ली गई युवतियों के मुताबिक उन्हें 10 दिन के लिए 20 हजार रुपये दिए जाते थे। युवतियों ने बताया कि गिरोह के लोग फोन पर भी लोगों को लड़कियां उपलब्ध कराते हैं। वहीं स्थानीय होटलों में भी ग्राहकों के लिए कमरे बुक कराकर लड़कियों की सेवा दी जाती है। 

अनिल साह ने किराए पर लिया था मकान 

अधिवक्ता राजेश सहाय ने बताया कि मोजाहिदपुर थाना क्षेत्र के नारायण दास लेन, मारूफचक अंबइ निवासी अनिल साह ने ट्रांसर्पोटेशन के नाम पर 01 मई 2018 को किराए पर मकान लिया था। 11 महीने की लीज पर दिया गया था। प्रथम तल पर अनिल साल और दूसरी मंजिल पर हास्टल है। जिसमें बच्चे रहते हैं।

चार-पांच दिन पूर्व बच्चों ने गांजा पीने की शिकायत की थी। बच्चों की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए देखभाल करने वाले जगदीश यादव ने अनिल साह से इस बारे में बात की।

अनिल ने घर खाली करने के लिए एक सप्ताह का समय मांगा था। लड़कियों के  आने-जाने की शिकायत किसी ने नहीं की। दो-ढाई माह से मैं वहां गया भी नहीं था। पुलिस को मैंने सारी बातों की जानकारी दे दी है। अनिल का आधार नंबर भी पुलिस को दे दिया गया है।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close