जम्मू कश्मीर

जम्‍मू-कश्‍मीर : कुपवाड़ा के तंगधार सेक्‍टर में पाकिस्‍तान की ओर से फायरिंग जारी

एक तरफ जहां इमरान खान का आज शपथ ग्रहण समारोह है। पाकिस्तान के 22वें प्रधानमंत्री बनने जा रहें हैं इमरान खान वहीं दूसरी और जम्‍मू-कश्‍मीर के कुपवाड़ा थाना क्षेत्र के तंगधार सेक्‍टर में एक बार फिर पाकिस्‍तान की और से सीज फायर का उल्‍लंघन किया गया है। पाकिस्‍तान की और से भारतीय सीमा पर फायरिंग की जा रही है। भारतीय सेना भी हर गोली का मुंहतोड़ जवाब दे रही है। अभी तक फायरिंग में किसी के हताहत होने की सूचना नहीं मिली है। सेना ने स्‍थानीय लोगों को घरों के अंदर ही रहने की सलाह दी है।

Loading...

उधर, दक्षिण कश्मीर के अवंतीपोर में शुक्रवार को आतंकियों ने एसपी (पुलिस अधीक्षक) कार्यालय पर ग्रेनेड हमला किया, जिसमें एक नागरिक की मौत और चार अन्य घायल हो गए। इसी दौरान एक अन्य वारदात में आतंकियों ने द्रबगाम में एक महिला को सुरक्षाबलों का मुखबिर होने के संदेह में मौत के घाट उतार दिया। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को पकड़ने के लिए अभियान चला रखा है।

जानकारी के अनुसार, दोपहर को द्रबगाम में स्वचालित हथियारों से लैस दो आतंकी अब्दुल गफ्फार बट की घर के बाहर आए। उन्होंने उसकी बेटी शमीमा पत्नी अली मोहम्मद बट को देखते ही उस पर अंधाधुंध फायरिंग की, जिससे उसकी मौत हो गई। हालांकि पुलिस ने शमीमा की हत्या के कारणों का खुलासा नहीं किया है, लेकिन सूत्रों ने बताया कि हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों को संदेह था कि 30 अप्रैल को मारे गए आतंकी समीर टाइगर के बारे में शमीमा ने ही मुखबिरी की थी।

इस वारदात के कुछ देर बाद अवंतीपोर में आतंकियों के एक अन्य दल ने एसपी कार्यालय को निशाना बनाते हुए ग्रेनेड से हमला किया। ग्रेनेड एसपी कार्यालय के बाहर गेट के पास गिरा और एक जोरदार धमाके के साथ फट गया। गेट पर तैनात पुलिसकर्मी ने ग्रेनेड फेंककर भाग रहे आतंकी पर गोली चलाने का भी प्रयास किया, लेकिन धमाके के बाद जान बचाने के लिए सुरक्षित स्थानों की तरफ भाग रहे लोगों की सुरक्षा को देखते हुए उसने संयम बरता। इसका फायदा लेकर आतंकी भाग निकले।

इस बीच, विस्फोट में घायल हुए चार लोगों को पुलिस ने उपचार के लिए निकटवर्ती अस्पताल पहुंचाया। स्थानीय पुलिस अधिकारियों के मुताबिक, तीन घायलों को प्राथमिक उपचार के बाद घर भेज दिया गया, जबकि अब्दुल अहद पिंचू निवासी अवंतीपोरा ने दम तोड़ दिया।

हंदवाड़ा में मुठभेड़, जवान शहीद

दूसरी और उत्तरी कश्मीर के करालगुंड (हंदवाड़ा) में शुक्रवार को भीषण मुठभेड़ में एक सैन्यकर्मी शहीद हो गया। उधर, हाजिन (बांडीपोर) में एक अन्य मुठभेड़ के दौरान शरारती तत्वों द्वारा सुरक्षाबलों पर किए गए पथराव की आड़ में चार आतंकी भाग निकले, लेकिन पूरे इलाके में तनाव और हिंसक झड़पें शुरू हो गई। हालात को देखते हुए प्रशासन ने क्षेत्र में इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया है।

जानकारी के अनुसार, तड़के सेना की 32 आरआर के जवानों ने करालगुंड के पास काचलू गांव में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर घेराबंदी करते हुए तलाशी अभियान (कासो) चलाया। जवान तलाशी लेते हुए गांव के बाहरी छोर पर पहुंचे तो वहां एक जगह छिपे आतंकियों ने उनपर राइफल ग्रेनेड दागते हुए स्वचालित हथियारों से फायरिंग की। जवानों ने भी जवाबी फायर किया।

इस दौरान एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। बाद में अस्पताल ने उसने दम तोड़ दिया। शहीद की पहचान राइफलमैन रामबाबू शाही निवासी नेपाल के रूप में हुई है। सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच करीब 40 मिनट तक गोलीबारी हुई, उसके बाद आतंकी भाग निकले। सुरक्षाबलों ने आतंकियों को पकड़ने के लिए पूरे इलाके में तलाशी अभियान को जारी रखा गया है।इसी दौरान, हाजिन के मीर मोहल्ले में आतंकियों के छिपे होने की सूचना पर सेना और पुलिस ने तलाशी अभियान चलाया।

वहां लश्कर के चार आतंकियों के छिपे होने की सूचना थी। सुरक्षाबलों ने जैसे ही एक जगह आतंकियों को घेरा, मुठभेड़ शुरू हो गई। इसके साथ ही पूरे इलाके में राष्ट्रविरोधी नारेबाजी के साथ जुलूस शुरू हो गए। बड़ी संख्या में युवक मुठभेड़स्थल पर जमा होने लगे और उन्होंने आतंकियों को सुरक्षित भगाने के लिए पथराव किया। पुलिस ने भी आंसूगैस और लाठियों का इस्तेमाल कर भीड़ को खदेड़ने का प्रयास किया। इसके बाद वहां हिंसक झड़पें शुरू हो गई, जो देर शाम तक जारी रहीं। बताया जा रहा है कि चारों आतंकी भाग निकले हैं।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close