उत्तर प्रदेश

शनिवार को वाराणसी में विसर्जित की जाएंगी वाजपेयी की अस्थियां

वाराणसीः पूर्व प्रधानमंत्री एवं भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी की अस्थियां 25 अगस्त को उत्तर प्रदेश की प्राचीन धार्मिक नगरी वाराणसी में पवित्र गंगा नदी में विसर्जित की जाएंगी।  भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की काशी क्षेत्र के मीडिया प्रभारी नवरतन राठी ने शुक्रवार को बताया कि स्वर्गीय वाजपेयी की अस्थि कलश यात्रा शनिवार पूर्वाह्न करीब साढ़े दस बजे वाराणसी की सीमा में प्रवेश करेगी। यात्रा मार्ग के प्रमुख 32 स्थानों को चयनित किया गया है, जहां आमजन अपनी भावांजलि अर्पित कर सकेंगे।   

Loading...

उन्होंने बताया कि पूर्व प्रधानमंत्री का अस्थि कलश लेकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं उत्तर प्रदेश के विधान परिषद लक्ष्मण आचार्य, उत्तर प्रदेश सरकार के सूचना राज्य मंत्री डॉ नीलकंठ तिवारी, काशी क्षेत्र के अध्यक्ष महेश चंद श्रीवास्तव फूलपुर बाजार के रास्ते वाराणसी की सीमा में प्रवेश करेंगे।

राठी ने बताया कि अस्थि कलश यात्रा ग्रामीण इलाके में पिंडरा बाजार, बाबतपुर चौराहा, हरहुआ चौराहा, तरना, शिवपुर चौराहा होते हुए पूर्वान्ह करीब 11.15 बजे गिलट बाजार स्थित संत अतुलानन्द स्कूल के पास महानगर सीमा में प्रवेश करेगी। यहां से राजश्री चौराहा, गोलघर चौराहा, अंबेडकर चौराहा, नदेसर, अंधरापुल, जगतगंज, लहुराबीर चौराहा, पिपलानी कटरा, कबीरचौरा, मैदागिन, बुलानाला, नीचीबाग, चौक, ज्ञानवापी, गोदौलिया चौराहा होते हुए अपरान्ह लगभग एक बजकर 15 मिनट पर राजेन्द्र प्रसाद घाट पर पहुंचेगी। 

ऐतिहासिक दशाश्वमेध घाट के पास स्थित राजेंद्र घाट पर भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय के अलावा भाजपा के वरिष्ठ पदाधिकारियों, उत्तर प्रदेश सरकार के कई मंत्री एवं विधायक जनप्रतिनिधियों, कार्यकर्ताओ एवं काशीवासियों की मौजूदगी में अस्थियों को विधिविधान के साथ पवित्र गंगा में प्रवाहित किया जाएगा। 

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close