मुजफ्फरनगर में उत्पीड़न के बाद दलित महिला ने छोड़ा कॉलेज

मुजफ्फरनगर में उत्पीड़न के बाद दलित महिला ने छोड़ा कॉलेज

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जिले में एक व्यक्ति द्वारा कथित तौर पर किए जा रहे उत्पीड़न के कारण 22 वर्षीय एक दलित महिला ने कॉलेज छोड़ दिया. पुलिस अधीक्षक (एसपी) दिनेश कुमार ने बताया कि रविवार को महिला के परिवार से एक शिकायत मिलने के बाद आरोपी व्यक्ति के खिलाफ मामला दर्ज किया गया.

उन्होंने बताया कि आरोपी फरार हो गया है. उसके खिलाफ भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और अनुसूचित जाति एवं जनजाति (अत्याचार की रोकथाम) कानून के विभिन्न प्रावधानों के तहत मामला दर्ज किया गया है.

एसपी ने बताया कि पीड़िता के परिजन ने आरोप लगाया कि एक व्यक्ति के लगातार उत्पीड़न के कारण महिला ने कॉलेज छोड़ा. कुमार ने बताया कि उसने डर के कारण कॉलेज छोड़ा. महिला ने आरोपी व्यक्ति की हरकतों का विरोध किया था लेकिन उसने उसका उत्पीड़न बंद नहीं किया और उसे एवं उसके परिवार को गंभीर परिणाम भुगतने की चेतावनी दी. पुलिस ने आरोपी को पकड़ने के लिए एक तलाशी अभियान चलाया है. 

आपको बता दें कि अखिल भारतीय कांग्रेस अनुसूचित जाति विभाग के चैयरमैन नितिन राउत ने लखनऊ में शुक्रवार को आरोप लगाया था कि उत्तर प्रदेश दलित उत्पीड़न का केंद्र बन गया है. बीजेपी की सरकार आने के बाद से यहां दलित उत्पीड़न में 67 फीसदी बढ़ोतरी हुई है.  

उन्होंने आरोप लगाया कि भारत बंद के दौरान दलितों पर अत्याचार हुआ. उन्हें जगह-जगह पीटा गया, बंद किया गया और उन पर एनएसए तक लगाए गए. नितिन राउत कहा कि यूपी में आरक्षण वाली नौकरियों की प्रक्रिया नहीं शुरू की जा रही है. दलितों को प्रमोशन नहीं दिए जा रहे हैं. उन्हें गैर महत्वपूर्ण स्थानों पर तैनात किया जा रहा है. उन्होंने कहा था कि बीजेपी सरकार की इन्हीं नीतियों के खिलाफ उनका विभाग ‘संविधान से स्वाभिमान यात्रा’ निकालेगा, साथ ही यूपी में बड़ी रैली होगी, जिसमें कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी भी मौजूद रहेंगे.

You Might Also Like