फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर बनकर डॉक्‍टर को ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश

फर्जी ड्रग इंस्पेक्टर बनकर डॉक्‍टर को ठगने वाले गिरोह का पर्दाफाश

दिल्‍ली से सटे गाजियाबाद पुलिस ने ठगी के एक ऐसे गैंग का पर्दाफाश किया है जो नकली ड्रग इंस्पेक्टर और अधिकारी बनकर एनसीआर के डॉक्टरों को डराता था. यही नहीं, डॉक्टरों से रंगदारी भी वसूलता था. मामले में दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर राजकुमार का नाम भी सामने आया है. राजकुमार को इस गैंग का सरगना बताया जा रहा है.

गाजियाबाद एसएसपी के मुताबिक राजकुमार दिल्ली पुलिस में किंग्स वे कैंप के तीसरे बटालियन में तैनात है. फिलहाल राजकुमार के चार साथियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि दिल्ली पुलिस के इंस्पेक्टर राजकुमार और उसके साथियों ने साहिबाबाद में एक डॉक्टर के क्लीनिक पर जाकर उसे धमकाया. इन आरोपियों ने डॉक्‍टर के सामने खुद को ड्रग इंस्पेक्टर बताया. इन्‍होंने डॉक्टर से कहा कि अगर तुमने 5 लाख रुपये नहीं दिए तो तुम्हारी झूठी रिपोर्ट बना देंगे.

इस डर से डॉक्टर ने उन्‍हें 4 लाख से ज्‍यादा की रकम दे दी. रंगदारी मांगने वालों में इंस्पेक्टर राजकुमार खुद भी शामिल था. यह घटना सीसीटीवी में कैद हो गई. इस सीसीटीवी को डॉक्टर ने पुलिस को दिया है.

वहीं दिल्ली के आनंद विहार से एक लूटपाट और हत्‍या की खबर आई है. इस इलाके में  सतेंद्र नामक शख्‍स के पैसे लूट कर भाग रहे बदमाशों ने मोहित नाम के एक युवक को गोली मार दी. दरअसल, मोहित लूटेरों का पीछा कर रहा था और उसने एक बदमाश को पकड़ भी लिया.

घायल मोहित को पास के अस्पताल में दाखिल कराया गया जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस ने हत्या और लूट का मुकदमा दर्ज कर फरार बदमाशों की तलाश शुरू कर दी है. 22 साल का मोहित पुर्वी दिल्ली के जगतपुरी इलाके का रहने वाला है और आनंद विहार के जागृति एन्‍कलेव में ड्राइविंग का काम करता था

You Might Also Like