शेयर बाजार में फिर गिरावट, सेंसेक्स 300 अंक टूटकर 35000 के नीचे, निफ्टी 10500 के पास

शेयर बाजार में फिर गिरावट, सेंसेक्स 300 अंक टूटकर 35000 के नीचे, निफ्टी 10500 के पास

बाजार में कमजोरी का माहौल बरकरार है. आज भी सेंसेक्स और निफ्टी ने कमजोरी के साथ शुरुआत की है. शुक्रवार को रुपए में कमजोरी और ऑयल मार्केटिंग कंपनियों (OMCs) में बड़ी गिरावट से सेंसेक्स 300 अंक तक टूट गया और जबकि निफ्टी 10,500 के नीचे फिसल गया. सेंसेक्स ने इस दौरान 35,000 का स्तर तोड़ दिया है. सेंसेक्स और निफ्टी में 0.5 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली. 

फिलहाल, सेंसेक्स 184 अंक यानि 0.52 फीसदी की गिरावट के साथ 34,984 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. वहीं, निफ्टी 86 अंक यानि 0.81 फीसदी टूटकर 10,513 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. इसके पहले गुरुवार को भी सेंसेक्स में 800 अंकों की गिरावट रही थी।  निफ्टी पर फार्मा और आईटी शेयरों में तेजी नजर आ रही है।

मिडकैप-स्मॉलकैप गिरे
लार्जकैप के साथ मिडकैप और स्मॉलकैप शेयरों में भी बिकवाली दिख रही है. बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.80 फीसदी गिरा है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 1 फीसदी की कमजोरी आई है. बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.60 फीसदी लुढ़का है.

ऑयल और गैस शेयरों में भारी गिरावट
बाजार की गिरावट में सबसे अहम रोल ऑयल एंड गैस शेयरों का है. इस सेक्टर में जबरदस्त बिकवाली का दबाव है. पेट्रोल-डीजल की कीमते कम होने से स्टॉक्स में लगातार गिरावट देखने को मिली है. FMCG, मीडिया और मेटल शेयरों में दबाव नजर आ रहा है. बीएसई का ऑयल एंड गैस इंडेक्स 11 फीसदी लुढ़का है. बैंक निफ्टी सपाट होकर 24,820 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. हालांकि, रियल्टी, फार्मा, कंज्यूमर ड्युरेबल्स और कैपिटल गुड्स शेयरों में खरीदारी दिख रही है.

इन शेयरों में आई गिरावट
दिग्गज शेयरों में BPCL, HPCL, IOC, गेल, ONGC, रिलायंस इंडस्ट्रीज, बजाज ऑटो, ITC और HUL में 24-1.1 फीसदी तक की गिरावट देखने को मिली है. वहीं, टाइटन, भारती इंफ्रा, भारती एयरटेल, इंडियाबुल्स हाउसिंग, इंफोसिस, टाटा स्टील, टाटा मोटर्स और एशियन पेंट्स में 2.3-0.5 फीसदी की मजबूती देखी गई. मिडकैप शेयरों में एमआरपीएल, सेंट्रल बैंक, कंटेनर कॉर्प और बायोकॉन 9.8-3 फीसदी तक गिरे हैं. स्मॉलकैप शेयरों में आशापुरा, जेट एयरवेज, आईएलएंडएफएस ट्रांसपोर्ट, स्पाइसजेट और इंडियाबुल्स वेंचर्स 10-5 फीसदी तक कमजोर हुए हैं.

You Might Also Like