राम मंदिर को लेकर भाजपा सांसद साक्षी महाराज के तेवर बगावती, कह दी बहुत बड़ी बात

राम मंदिर को लेकर भाजपा सांसद साक्षी महाराज के तेवर बगावती, कह दी बहुत बड़ी बात

अयोध्या में राम जन्मभूमि पर राम मंदिर के निर्माण को लेकर संतों के अनशन के बीच भारतीय जनता पार्टी के सांसद भी अब बगावती तेवर में हैं। उन्नाव से भारतीय जनता पार्टी के सांसद सच्चिदानंद हरि साक्षी उर्फ साक्षी महाराज ने दो टूक कहा है कि अगर 2019 से पहले अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर नहीं बना तो वह भाजपा से बगावत करेंगे।

भारतीय जनता पार्टी के फायरब्रांड नेता के रूप में विख्यात साक्षी महाराज ने कहा कि केंद्र की नरेंद्र मोदी की सरकार अगर 2019 से पहले तक अयोध्या में श्रीराम का भव्य मंदिर नहीं बनवाती है तो वह भारतीय जनता पार्टी से बगावत करने में पीछे नहीं हटेंगे। साक्षी महाराज ने कहा कि वह संतों के पक्ष में हैं। वह भी राम जन्मभूमि में श्रीराम के भव्य मंदिर के निर्माण के पक्ष में हैं। राम मंदिर के मुद्दे पर वह संतों के साथ खड़े हैं। उन्होंने कहा कि अगर केंद्र सरकार इस पुनीत कार्य में कदम आगे नहीं बढ़ाती है तो वह संतो के साथ खड़े होंगे। उन्होंने कहा कि आज मैं जो कुछ भी हूं, भगवान श्रीराम की कृपा से हूं। भाजपा पर भी भगवान श्रीराम की बड़ी कृपा है। भाजपा आज जिस मुकाम पर पहुंची है, उसके पीछे राम जी कृपा और संंतों का बहुत बड़ा योगदान है।

पत्रकारों से बातचीत के दौरान उन्होंने साफ कर दिया है कि राम मंदिर के मसले पर वह सरकार और पार्टी के बजाय संतों के साथ खड़े हैं। उन्होंने बताया कि 5 अक्टूबर के विश्व हिन्दू परिषद की शीर्ष बैठक में शंकराचार्य की उपस्थित में संतों ने सरकार से अपनी नाराजगी को जता दी है। उनके मुताबिक संतों का साफ मानना है कि जब सरकार तीन तलाक के लिए अध्यादेश ला सकती है तो मंदिर के लिए क्यों नहीं। उन्होंने बताया कि 3 व 4 नवंबर को दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में धर्मादेश सम्मेलन होगा, देश भर के पांच हजार धर्माचार्य शामिल होंगे। सम्मेलन में सरकार से मंदिर के लिए मार्ग प्रशस्त करने की मांग होगी, उसके बाद भी मंदिर निर्माण की पहल नहीं होती है तो संत समाज 6 दिसंबर से मंदिर का निर्माण शुरू कर देंगे। उन्होंने कि बताया वह भी कार्यसेवा के लिए अयोध्या जाएंगे। 

You Might Also Like