पुलवामा में सेना की टुकड़ी पर आतंकी हमला

पुलवामा में सेना की टुकड़ी पर आतंकी हमला

दशहरे की शुरुआत बीती रात कश्मीर के पुलवामा में आतंकी हमले से हुई.  आतंकवादियों ने आईईडी विस्फोट कर सुरक्षा बलों को निशाना बनाया. हमले में सेना के 7 जवान घायल हो गए और उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया. दूसरी ओर शिरडी के साईं बाबा को समाधि लिए हुए आज 100 साल पूरे हो रहे हैं, इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे और यहां एक रैली को संबोधित करेंगे.

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों पर आतंकी हमले थमने का नाम नहीं ले रहे हैं. जम्मू कश्मीर के पुलवामा में गुरुवार की रात आतंकवादियों ने आईईडी विस्फोट कर सुरक्षा बलों को निशाना बनाया. इस आतंकी हमले में सेना के 7 जवान घायल हो गए. घायल जवानों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है. इसमें तीन की हालत गंभीर बताई जा रही है. पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि आतंकवादियों ने दक्षिण कश्मीर के जिले में पुलवामा-लस्सीपुरा रोड पर आईईडी विस्फोट किया.

दिल्ली के पांच सितारा होटल में पिस्टल लहराने वाले आशीष पांडे ने पुलिस की पूछताछ में कई खुलासे किए हैं. पूर्व बसपा सांसद राकेश पांडे के बेटे आशीष पांडे ने अब तक की पूछताछ में बताया है कि हयात होटल में वारदात को अंजाम देने के बाद उसने तीनों लड़कियों को दिल्ली में उनके होटल पर ड्रॉप किया था और फिर खुद लखनऊ चला गया था.

शिरडी के साईं बाबा को समाधि लिए हुए आज 100 साल पूरे हो रहे हैं, इस मौके पर शिरडी में बड़ा कार्यक्रम किया जा रहा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस कार्यक्रम में शिरकत करेंगे और यहां एक रैली को संबोधित करेंगे. प्रधानमंत्री एक विशेष विमान से शिरडी के नए हवाई अड्डे पर उतरेंगे और वहां से हेलीकॉप्टर से श्री साईंबाबा संस्थान न्यास (एसएसएसटी) के लिए रवाना होंगे. वहां मंदिर में विशेष पूजा करने के बाद एक विशेष ध्वजा फहराएंगे.

भारतीय सीमा में चीन द्वारा लगातार घसुपैठ की खबरों के बीच तिब्बत के रास्ते भारत में बहने वाली ब्रह्मपुत्र नदी का पानी रोक दिया गया है. इसके पीछे चीन का हाथ होने की बात सामने आई है. पानी रुकने की वजह से अरुणाचल प्रदेश के एक बड़े हिस्से में सूखे की नौबत आ गई है. अरुणाचल से कांग्रेस सांसद निनोंग एरिंग ने केंद्रीय जल संसाधन राज्यमंत्री अर्जुन राम मेघवाल को पत्र लिखकर अवगत कराया है कि ब्रह्मपुत्र का पानी रुक जाने से अरुणाचल के तूतिंग, यिंगकियोंग और पासीघाट इलाके में इसके कारण सूखे के हालात पैदा हो गए हैं.

सुप्रीम कोर्ट में अक्टूबर 2016 से सितंबर 2017 के बीच में कुल 61,520 मुकदमे दर्ज हुए. इन मुकदमों को दर्ज करने में इस्तेमाल किए गए कागज पर यदि दोनों तरफ प्रिंटिंग की गई होती तो 2,953 पेड़ और 24,600 टैंकर पानी (एक टैंकर में 1,000 लीटर) को बचाया गया होता. यह आकलन नई दिल्ली स्थित थिंक टैंक सेंटर फॉर अकाउंटबिलिटी एंड सिस्टेमिक चेंज (सीएएससी) ने किया. यदि कोर्ट याचिका में इस्तेमाल कागज के दोनों तरफ प्रिंट की अनुमति दे तो पूरे देश की बड़ी-छोटी अदालतों में कागज की बचत के जरिए 27,000 पेड़ और 2,000 मिलियन लीटर पानी को प्रति महीने बचाया जा सकता है.

 

You Might Also Like