चंद्रबाबू नायडू, राहुल गांधी से आज कर सकते हैं मुलाकात

चंद्रबाबू नायडू, राहुल गांधी से आज कर सकते हैं मुलाकात

 अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सामने चुनौती पेश करने के लिए विपक्षी पार्टियां एकजुट होकर एक मंच पर दिखने की कोशिश में जुटी है. राजनीति के गलियारे में चर्चा है कि शरद यादव विपक्षी पार्टियों को एक मंच पर लाने की भरसक कोशिश कर रहे हैं. वे राजनीतिक दलों से संपर्क साधकर उनसे अपील कर रहे हैं कि वे अपने निजी स्वार्थों को त्यागकर एक साथ आएं. इसी कड़ी में आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू गुरुवार को दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से मुलाकात कर सकते हैं.

माना जा रहा है कि शरद यादव और चंद्रबाबू नायडू की बैठक के बाद दोनों नेताओं ने तय किया है कि वे विपक्षी दलों को नए सिरे से एक मंच पर लाने की कोशिश करेंगे. इसके लिए दोनों नेता बारी-बारी से विभिन्न पार्टी के नेताओं से मुलाकात करेंगे.

मायावती से मुलाकात कर चुके हैं चंद्रबाबू

महागठबंधन की संभावनाओं को तलाशने के इरादे से ही आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री और टीडीपी नेता एन चन्द्रबाबू नायडू ने बीएसपी प्रमुख मायावती से मुलाकात की. बीएसपी के एक नेता ने बताया कि नायडू ने उत्तर प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री से शनिवार शाम को मुलाकात की. इस दौरान नायडू के साथ आंध्र प्रदेश के वित्त मंत्री वाइ्र रामकृष्णुडु और उनकी पार्टी के कुछ सांसद भी मौजूद थे.

इस साल मार्च तक तेलुगु देशम पार्टी एनडीए का हिस्सा थी. टीडीपी केंद्र में सत्तारूढ़ गठबंधन से यह आरोप लगाते हुए अलग हो गयी थी कि सरकार ने आंध्र प्रदेश को विशेष दर्जा दिये जाने की मांग को खारिज कर दिया. हालांकि दोनों नेताओं के बीच एक घंटे तक चली मुलाकात में क्या बातचीत हुई इसका पता तत्काल नहीं लग सका है

मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों को लेकर कांग्रेस के खिलाफ मायावती के रूख को बीजेपी के खिलाफ महागठबंधन बनाने के खिलाफ एक झटका के रूप में देखा जा रहा है. दूसरी ओर जन सेना नेता पवन कल्याण ने भी हाल ही में मायावती से मिलने की कोशिश की थी.

कांग्रेस-बीएसपी में टकराव है महागठबंधन में रोड़ा

राजनीति के जानकार मानते हैं कि महागठबंधन को सफल बनाने के लिए बहुजन समाज पार्टी का इसमें होना जरूरी है. पांच राज्यों में हो रहे विधानसभा चुनावों में कांग्रेस और बीएसपी के बीच जिस तरह के रिश्ते सामने आए हैं, उससे महागठबंधन की संभावनाएं आधी-अधूरी लग रही हैं. छत्तीसगढ़ में जहां बीएसपी ने कांग्रेस से अलग हुए अजित जोगी के साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ रही है, वहीं मध्य प्रदेश और राजस्थान में भी बीएसपी और कांग्रेस के बीच गठबंधन नहीं हो पाया है.

You Might Also Like