बीमारी से आजिज एक बुजुर्ग ने उठाया आत्मघाती कदम, पत्नी को दिया जहर, खुद को लगाई आग

बीमारी से आजिज एक बुजुर्ग ने उठाया आत्मघाती कदम, पत्नी को दिया जहर, खुद को लगाई आग

बीमारी से परेशान एक बुजुर्ग ने पहले पत्नी को जहर दे दिया और फिर गैस सिलेंडर से खुद को आग लगा ली। जिससे दोनों की मौत हो गई।

जानकारी के अनुसार मृतक नंदन सिंह परिहार मूल रूप से बागेश्वर के रहने वाले थे। वह भवाली में विगत 30 वर्षों से रह रहे थे। 1993 के करीब उन्होंने भवाली स्थित दुगई स्टेट में अपना मकान बनाया।

वर्तमान में उनके मकान में सिर्फ किरायेदार रहते हैं। अभी कुछ महीने पहले ही उनकी पत्नी की बाईपास सर्जरी हुई थी। किरायेदारों ने बताया कि पिछले माह 19 अक्टूबर को भवाली स्थित घर आये थे।

मृतक दंपत्ति के हैं दो पुत्र

मृतक नंदन सिंह परिहार सांख्यिकीय विभाग में कार्यरत थे, जहां से वो 2009 से सेवानिवृत्त हुए। वहीं मृतक की पत्नी भवाली जीजीआईसी में अंग्रेजी की अध्यापिका थी वो भी 2009 में सेवानिवृत्त हुईं।

मृतक दंपत्ति के दो पुत्र हैं। बड़ा पुत्र धीरेंद्र सिंह परिहार आईबी में इंस्पेक्टर है और वर्तमान में देहरादून में कार्यरत है। वहीं छोटा पुत्र महेंद्र सिंह परिहार सेना में मेजर पद पर है और वर्तमान में पुणे में है।

You Might Also Like