सरधना पुलिस द्वारा सरूरपुर थाना क्षेत्र में की गई गो तस्करों के साथ मुठभेड़ के मामले में अब हिंदू संगठन पुलिस के पक्ष में उतर आए

सरधना पुलिस द्वारा सरूरपुर थाना क्षेत्र में की गई गो तस्करों के साथ मुठभेड़ के मामले में अब हिंदू संगठन पुलिस के पक्ष में उतर आए

सरधना पुलिस द्वारा सरूरपुर थाना क्षेत्र में की गई गो तस्करों के साथ मुठभेड़ के मामले में अब हिंदू संगठन पुलिस के पक्ष में उतर आए हैं। हिंदू युवा वाहिनी और विश्व हिंदू परिषद ने चेतावनी दी है कि यदि सरकार ने पुलिस के खिलाफ कोई भी कार्रवाई की तो वह बड़ा आंदोलन करेंगे। इसी प्रकरण को लेकर संगठनों ने एसएसपी अखिलेश कुमार को ज्ञापन दिया है। 
28 को हुई थी मुठभेड़ 
उल्लेखनीय है कि सरधना पुलिस और गोतस्करों के बीच 28 नवंबर को मुठभेड़ हुई थी जिसमें पुलिस टीम ने सरधना थाना क्षेत्र के द्रोण पब्लिक स्कूल से गोतस्करों की गाड़ी का पीछा किया था। करीब 11 किलोमीटर चलने के बाद सरूरपुर थाना क्षेत्र में गोतस्कर अपनी गाड़ी छोड़कर भाग गए थे। इस बीच पुलिस और तस्करों के बीच ताबड़तोड़ गोलियां चली थी। जब पुलिस ने गाड़ी की तलाशी ली तो उसमें इरशाद निवासी मुजफ्फरनगर को गोली लगना पाया गया था। उसे अस्पताल में भर्ती कराया तो उसकी मौत हो गई थी। 

मुस्लिम संगठनों ने बताया फर्जी एनकाउंटर 
इस मामले में कुछ मुस्लिम संगठन एनकाउंटर को फर्जी बताकर कार्रवाई की मांग कर रहे हैं। कुछ मुस्लिम संगठनों ने आंदोलन की भी चेतावनी दी है। इसी को लेकर शुक्रवार को हिंदू युवा वाहिनी के महानगर अध्यक्ष अंकित शर्मा, कार्यकर्ता किशन शर्मा, ऋषभ चंद्रा, ईशान कुमार, लोकेश प्रताप, ध्रुव सिंह, जतिन कुमार, सनी प्रजापति, आकाश, शुभम, मनोज आदि एसएसपी कार्यालय पर पहुंचे और उन्होंने मुठभेड़ को सही बताते हुए कप्तान से निष्पक्ष जांच की मांग की। 
विहिप कार्यकर्ता भी पहुंचे 
इसके अलावा विश्व हिंदू परिषद के विभाग मंत्री गोपाल शर्मा के नेतृत्व में बलराज डूंगर, अवनीत बंसल, अर्जुन राखी, गौरव गर्ग, राजकुमार डूंगर, मधुबन पवार, अवनीश गोयल, एसएसपी से मिले और मुठभेड़ को सही बताया। हिंदू संगठनों का कहना है कि जब गोतस्कर पुलिस को मारते हैं तो कोई भी संगठन सामने आकर आंदोलन की बात नहीं करता अब गोतस्कर मारा गया है तो फर्जी मुठभेड़ बताई जा रही है जबकि यह असली मुठभेड़ है।

You Might Also Like