इंस्‍पेक्‍टर सुबोध को गोली मारने में जीतू नाम के आर्मी जवान पर शक

इंस्‍पेक्‍टर सुबोध को गोली मारने में जीतू नाम के आर्मी जवान पर शक

इंस्‍पेक्‍टर सुबोध कुमार सिंह की हत्‍या के मामले में नया एंगल सामने आया है. मेरठ जोन के आईजी राम कुमार के अनुसार, ”घटना के बाद कुछ गांववालों के बयान लिए गए थे. इसमें जांच के आधार पर महाव गांव के एक जीतू नाम के फौजी का नाम सामने आया है कि उसने इंस्पेक्टर सुबोध को गोली मारी है. जीतू जम्मू-कश्मीर में पोस्टेड है. उसे लेने के लिए टीम गई है उससे पूछताछ के बाद ही साफ़ होगा कि गोली उसने चलाई या नहीं. फिलहाल शक के आधार पर उसको लेने के लिए टीम जम्‍मू गई है.”

इस बीच बुलंदशहर हिंसा के मामले में गठित विशेष जांच दल (एसआईटी) की जांच में उत्तर प्रदेश एसटीएफ भी उसकी मदद कर रही है. अपर पुलिस महानिदेशक (अभिसूचना) मामले की जांच कर राजधानी वापस आ गये हैं और अपनी रिपोर्ट जल्द ही उच्चाधिकारियों को सौपेंगे.

इससे पहले आईजी (अपराध) एस के भगत ने बृहस्पतिवार की शाम पत्रकार वार्ता में बताया कि आईजी मेरठ के नेतृत्व में चार सदस्यीय एसआईटी टीम ने जांच का काम शुरू कर दिया है. इसके अंतर्गत वह घटना वाले दिन की तमाम वीडियो फुटेज का भी बारीकी से निरीक्षण कर रही है ताकि यह पता लगाया जा सके कि हिंसा के पीछे कौन-कौन लोग शामिल है. इस काम में एसआईटी की मदद उत्तर प्रदेश एसटीएफ कर रही है.

एक सवाल के जवाब में आईजी (अपराध) ने साफ किया कि प्रथमदृष्टया मिली जानकारी के अनुसार इंस्पेक्टर सुबोध कुमार और एक अन्य युवक सुमित की हत्या 32 बोर की गोली से हुई है. अब गोली एक ही रिवाल्वर से चली है या अलग-अलग रिवाल्वर से इसका पता एफएसएल रिपोर्ट आने के बाद ही पता चलेगा.

आईजी (अपराध) ने कहा कि अपर पुलिस महानिदेशक (अभिसूचना) अपनी जांच कर राजधानी वापस आ गये हैं और वह जल्द ही अपनी रिपोर्ट उच्चाधिकारियों को सौपेंगे. गौरतलब है कि कि सोमवार को बुलंदशहर के चिंगरावठी पुलिस चौकी पर कथित गौकशी की खबर के बाद भीड़ की हिंसा के बाद इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या कर दी गई थी.

You Might Also Like