कुंभ में ऐतिहासिक कैबिनेट बैठक आज, सवर्ण आरक्षण के मानकों को मिलेगी मंजूरी

कुंभ में ऐतिहासिक कैबिनेट बैठक आज, सवर्ण आरक्षण के मानकों को मिलेगी मंजूरी

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने मंगलवार सुबह 11 बजे से कुंभ मेला (Kumbh Mela) प्रयागराज में ऐतिहासिक कैबिनेट बैठक (Cabinet meeting) बुलाई है। कुंभ के इंटीग्रेटेड कमांड सेंटर में होने वाली इस कैबिनेट बैठक के लिए ज्यादातर मंत्री सोमवार को ही प्रयागराज चले गए हैं।

पिछली कैबिनेट में 10 फीसदी आरक्षण को लेकर प्रस्ताव पर चर्चा के बाद उसको सैद्धांतिक मंजूरी दी गई थी। इसी के साथ संशोधित मेरिट के रोस्टर को भी मंजूरी दी जाएगी। अब गरीब सवर्ण आरक्षण के मानकों को मंजूरी दी जाएगी। एक्ट में संशोधन भी करना होगा। इसके लिए बजट सत्र में ही विधेयक पेश करने के लिए विधेयक के मसौदे को भी मंजूरी दी जा सकती है।

इसके अलावा कैबिनेट उरी द सर्जिकल स्ट्राइक फिल्म को टैक्स फ्री करने का फैसला करेगी। मंत्रियों के लिए इस फिल्म का प्रदर्शन भी कुंभ में बैठक के बाद किया जाएगा। इसके अलावा अयोध्या में भगवान राम की दुनिया की सबसे ऊंची मूर्ति लगाने के लिए जमीन देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी मिलेगी।

कैबिनेट बैठक में कुष्ठ रोगियों को भी प्रधानमंत्री आवास के पात्रों में शामिल करने के लिए ग्राम्य विकास विभाग के एक प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी। इस प्रस्ताव की खास बात यह है कि कुष्ठ रोगियों को इस योजना का लाभ देने के लिए राज्यपाल राम नाईक ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से खासतौर से कहा है। इसके अलावा कैबिनेट बैठक में एनसीआर में बन रहे कर एवं निबंधन अधिकारियों के भवन के लिए उच्च विशिष्टियों के इस्तेमाल के प्रस्ताव को मंजूरी दी जाएगी। कुंभ में हरिद्वार की हरि की पैड़ी की तर्ज पर गंगा और यमुना के संगम को उसी तरह का स्वरूप देने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी जा सकती है। कुंभ के तीर्थ यात्रियों को कुछ सुविधाओं और छूट की स्वीकृति भी संभव है।

केवल मंत्री और सात अफसर रहेंगे अंदर
कैबिनेट में मुख्यमंत्री सहित कैबिनेट मंत्री और सात अफसर ही मौजूद रहेंगे। जिनमें मुख्य सचिव अनूप चंद्र पांडेय, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव एसपी गोयल, अपर मुख्य सचिव वित्त संजीव मित्तल, अपर मुख्य सचिव नियोजन दीपक त्रिवेदी, प्रमुख सचिव न्याय, प्रमुख सचिव सूचना अवनीश अवस्थी और विशेष सचिव गोपन कृष्ण गोपाल। इसके अलावा यदि स्वतंत्र प्रभार वाले मंत्री को उसके एजेंडे का विषय आने पर ही प्रवेश मिलेगा। खत्म होने पर वह मंत्री बाहर आ जाएगा। शासन स्तर से डीएम प्रयाग राज सुहास एल वाई और मेला अधिकारी विजय किरन आनंद को निर्देश दे दिए गए हैं।

 

योगी सहित सभी मंत्री लगाएंगे डुबकी
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ सहित सभी मंत्री कुंभ में संगम में स्नान करेंगे। ज्यादातर मंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ ही डुबकी लगाएंगे। कुछ मंत्री अपनी अवस्था और स्वास्थ्य के हिसाब से मौसम के हिसाब से डुबकी लगाएंगे। ये सभी अक्षय वट और सरस्वती कूप के भी दर्शन करेंगे।

You Might Also Like