मलेशिया की सड़कों पर निरहुआ के साथ आम्रपाली ने लगाए ठुमके, वायरल हो रहा है VIDEO

मलेशिया की सड़कों पर निरहुआ के साथ आम्रपाली ने लगाए ठुमके, वायरल हो रहा है VIDEO

 भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में जुबलीस्टार दिनेशलाल यादव ‘निरहुआ’ और यूट्यूब क्वीन आम्रपाली दुबे की जोड़ी काफी फेमस है. इन दोनों कई भोजपुरी फिल्में सुपरहिट हुई हैं और लोगों को भी इनकी जोड़ी बेहद पसंद आती है. ऐसे में इन दोनों का एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है. दरअसल, मलेशिया में शनिवार को ‘चौथा अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड 2018’ आयोजित किया गया था, जहां भोजपुरी के तमाम दिग्गत सितारे शामिल हुए थे. इस अवॉर्ड फंक्शन में इस साल बेस्ट एक्टर का खिताब जुबलीस्टार दिनेशलाल यादव ‘निरहुआ’ को मिला और आम्रपाली दुबे को बेस्ट एक्ट्रेस का क्रिटिक अवॉर्ड मिला.

मलेशिया में जमकर मस्ती करते दिखे सितारे
इसी दौरान अवॉर्ड फंक्शन के पहले ये सितारे मलेशिया में जमकर मस्ती करते नजर आए थे, जिसका एक वीडियो इंटरनेट पर वायरल हो रहा है. बता दें, इस वीडियो में मलेशिया की सड़कों पर भोजपुरी गायक यश कुमार फिल्म मोहब्बतें का गाना ‘हमको हमी से चुरा लो’ गाते हुए नजर आ रहे हैं. इसी गाने पर दिनेशलाल यादव और आम्रपाली दुबे साथ में डांस कर रहे हैं. इस वीडियो को यूट्यूब पर काफी बसंद भी किया जा रहा है. बता दें, यश कुमार ने इस वीडियो को 24 जुलाई को यूट्यूब पर अपलोड किया और महज दो दिनों के अंदर इस वीडियो को 94,613 बार देखा जा चुका है.

21 जुलाई को आयोजित किया गया था आईबीफा
गौरतलब है कि बॉक्स आफिस के शहंशाह कहे जाने वाले जुबलीस्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को उनकी फिल्म ‘निरहुआ हिंदुस्तानी 2’ के लिए बेस्ट एक्टर के अवॉर्ड से नवाजा गया था. भोजपुरी सिनेमा का एकमात्र इंटरनेशनल भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड (आईबीफा) इस बार मलेशिया में 21 जुलाई को आयोजित किया गया था. इस अवसर पर भोजपुरी सिनेमा में योगदान देने वाले कुछ विशिष्ठ अतिथियों, सर्वश्रेष्ठ फिल्मों और कलाकारों तथा टेक्निशियनों का सम्मान भी किया गया. 

गौरतलब है कि अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) पहली बार मारिशस में किया गया था, उसके बाद इसका आयोजन दुबई में किया गया, फिर पिछले साल अंतरराष्ट्रीय भोजपुरी फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) का आयोजन लंदन में किया गया था. भोजपुरी अंतरराष्ट्रीय फिल्म अवॉर्ड समारोह (आईबीफा) ने जहां एक ओर भोजपुरी की आवाज को गांव से निकाल कर सात समन्दर पार परदेस में लाकर चर्चित कर दिया. वहीं दूसरी ओर भोजपुरी की दुनिया को विस्तार देते हुए अंतरराष्ट्रीय प्लेटफॉर्म दिया.

You Might Also Like