उत्तरकाशी में किशोरी की हत्‍या के बाद तनाव बरकरार

उत्तरकाशी में किशोरी की हत्‍या के बाद तनाव बरकरार

किशोरी की हत्या के बाद उत्तरकाशी में दूसरे दिन भी तनाव बरकरार है। आईजी संजय गुंज्याल उत्तरकाशी पहुंच गए हैं। सुबह पांच बजे से ही लोग सड़कों पर उतर आए हैं और धरने पर बैठ गए। तनाव को देखते हुए हर्षिल से सेना के करीब दो सौ जवान भी बुलाए गए हैं, लेकिन अभी सेना को रिजर्व में रखा गया है। पुलिस की जांच में अभी तक मजदूरों ने कत्ल की बात नहीं स्वीकारी है, अब पुलिस ने स्थानीय युवकों पर शक जताया है। बताया जा रहा है कि घटना के बाद से एक स्थानीय युवक भी गायब चल रहा है। 

इस बीच, डीएम डॉ. आशीष चौहान, एसपी सुखवीर सिंह, क्षेत्रीय विधायक गोपाल रावत और पूर्व विधायक विजयपाल सजवाण भी मौके पर पहुंच गए। जिलाधिकारी के समझाने पर ग्रामीण शव को पोस्टमार्टम के लिए ले जाने देने पर सहमत हो गए, लेकिन उन्होंने अफसरों और जनप्रतिनिधियों के वाहनों को एक घंटे तक रोके रखा। उन्होंने आशंका जताई कि पीड़ि‍त परिवार से कुछ दूरी पर रह रहे मजदूरों ने घटना को अंजाम दिया। ये मजदूर सुबह से ही गायब बताए गए। इस देहरादून जाने वाले वाहनों में संदिग्धों की तलाश शुरू हुई। 

पुलिस ने टिहरी जिले के थत्यूड़ और देहरादून में परेड मैदान के पास दो वाहनों में सवार सात मजदूरों को हिरासत में ले लिया। इन सभी को उत्तरकाशी लाया गया है।      

कोतवाल महादेव उनियाल ने बताया कि बच्ची के साथ संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है। अभी कोई खास सुराग हाथ नहीं लगा है। उन्होंने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में किशोरी के साथ दुष्कर्म के बाद उसका गला घोंटने की पुष्टि हुई है।

बड़ी बेटी नहीं थी घर पर

दंपती के बड़ी बेटी शुक्रवार को घर पर नहीं थी, कल दिन में ही वह अपने मामा के घर चली गई थी। आशंका जताई जा रही है कि दरिंदों के निशाने पर बड़ी बेटी रही होगी और उसके घर पर न होने की स्थिति में वह उसकी छोटी बहन का अगवा कर ले गए होंगे। 

You Might Also Like