जम्मू कश्मीर

स्वतंत्रता दिवस पर राज्यपाल वोहरा ने की सात कैदियों की माफ की सजा

स्वतंत्रता दिवस पर राज्यपाल एनएन वोहरा ने राज्य की विभिन्न जेलों में उम्रकैद की सजा काट रहे सात कैदियों की शेष सजा को माफ कर दिया। उन्हें अब रिहा कर दिया जाएगा। जिन कैदियों की सजा माफ की गई है, उनमें सेंट्रल जेल जम्मू कोट भलवाल में गोपाला अखनूर के रहने वाले बशीर अहमद पुत्र शरीफ शामिल है। उसे उम्रकैद के साथ पचास हजार रुपये जुर्माना हुआ था।

Loading...

रियासी जिले के माहौर तहसील के हरि वाला के रहने वाले साईं पुत्र हाजी शेरा को उम्रकैद और पंद्रह हजार रुपये जुर्माना की सजा हुई थी। यह सभी सेंट्रल जेल कोट भलवाल जम्मू में कैद हैं। अवंतीपुरा के रहने वाले अब्दुल अहमद राथर पुत्र मोहम्मद अकरम राथर को उम्रकैद और बीस हजार रुपये जुर्माने की सजा हुई। वह सेंट्रल जेल श्रीनगर में कैद है। अवंतीपुरा के रहने वाले बशीर अहमद भट पुत्र अब्दुल गफूर भट को उम्र कैद और बीस हजार रुपये कैद की सजा है। वह भी सेंट्रल जेल श्रीनगर में भर्ती है। गृह विभाग के प्रमुख सचिव आरके गोयल द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार सभी कैदियों को जेल सुप¨रटेंडेंट के समक्ष निजी मुचलका भरना होगा। 

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close