देश

विदेश मंत्री द्वारा ट्वीट करने पर चीन ने श्रद्धालुओं को मानसरोवर में लगाने दी डुबकी

चीनी अधिकारियों ने आखिरकार कैलाश-मानसरोवर की यात्रा पर सिक्किम के नाथू-ला दर्रे के रास्ते गए भारतीय श्रद्धालुओं को पवित्र झील में डुबकी लगाने की इजाजत दे दी। मंगलवार को इजाजत मिलने के बाद श्रद्धालुओं के दल ने मानसरोवर झील में तय स्थान पर डुबकी लगाई। बता दें कि इससे पहले सोमवार को चीनी अधिकारियों ने वहां पहुंचे भारतीय यात्रियों के जत्थे को मानसरोवर झील में डुबकी नहीं लगाने दी थी। 

Loading...

इसके लिए चीनी अधिकारियों ने बहुत ज्यादा सर्द मौसम होने का तर्क दिया था। चीनी अधिकारियों का कहना था कि पिछले सप्ताह झील में डुबकी लगाने से सर्दी के कारण दिल्ली के तीर्थयात्री रोशन लाल गोयल (55 वर्ष) की मौत हो गई थी। श्रद्धालुओं ने इसकी शिकायत ट्विटर के जरिए विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से की थी। इसके बाद मंगलवार को इन श्रद्धालुओं को डुबकी लगाने की इजाजत मिल गई। 

डुबकी लगाने के बाद तीर्थयात्रियों ने विदेश मंत्री का शुक्रिया भी अदा किया। बता दें कि चीन ने दोकलाम गतिरोध के बाद नाथू-ला दर्रे को बंद कर दिया था, जिसे पिछले महीने दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच वार्ता के बाद खोला गया है। फिलहाल इस रास्ते से निजी तौर पर श्रद्धालु कैलाश-मानसरोवर पहुंच रहे हैं। सरकार की तरफ से कराई जाने वाली यात्रा जून में शुरू होगी, जिससे इस बार उत्तराखंड के लिपुलेख दर्रे और नाथू-ला के जरिए कुल 1580 तीर्थयात्री कैलाश दर्शन करेंगे।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close