LIVE TVMain Slideउत्तर प्रदेशदेश

मुख्यमंत्री ने कोविड संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को निरन्तर प्रभावी बनाए रखने के निर्देश दिए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कोविड संक्रमण से बचाव और उपचार की व्यवस्थाओं को निरन्तर प्रभावी बनाए रखने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि कोविड प्रोटोकॉल का पूर्णतया पालन सुनिश्चित कराया जाए। उन्होंने ट्रेसिंग एवं टेस्टिंग का कार्य सतत जारी रखने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में प्रदेश में कोविड-19 की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि पिछले 24 घण्टों में राज्य में कोरोना संक्रमण के 07 नए मामले सामने आए हैं। इस अवधि में 03 व्यक्तियों को सफल उपचार के उपरान्त डिस्चार्ज किया गया। वर्तमान में प्रदेश में कोरोना के सक्रिय मामलों की संख्या 92 है।
मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि जनपद अलीगढ़, अमेठी, अमरोहा, अयोध्या, आजमगढ़, बदायूं, बागपत, बलरामपुर, बस्ती, भदोही, बिजनौर, बुलन्दशहर, चंदौली, चित्रकूट, एटा, इटावा, फिरोजाबाद, गाजीपुर, गोण्डा, हमीरपुर, हापुड़, हरदोई, हाथरस, जालौन, झांसी, कासगंज, कौशाम्बी, कुशीनगर, लखीमपुर खीरी, महोबा, मैनपुरी, मऊ, मिर्जापुर, मुरादाबाद, पीलीभीत, प्रतापगढ़, रामपुर, शाहजहांपुर, शामली, श्रावस्ती, सोनभद्र तथा वाराणसी में कोविड का एक भी मरीज नहीं है। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रिकवरी दर 98.7 प्रतिशत है। पिछले 24 घण्टे में प्रदेश में 01 लाख 53 हजार 569 कोरोना टेस्ट किए गए। अब तक राज्य में 08 करोड़ 77 लाख 17 हजार 554 कोविड टेस्ट सम्पन्न हो चुके हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोविड टीकाकरण को और तेज करने के प्रभावी प्रयास किये जाएं। इसके लिए घर-घर जाकर सर्वेक्षण किया जाए। लक्षित आयु वर्ग के जिन लोगों ने अभी तक टीके की खुराक नहीं ली है, उन्हें वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित और प्रोत्साहित किया जाए। उन्होंने कहा कि दिव्यांग, निराश्रित तथा वृद्धजनों से सम्पर्क कर उनका टीकाकरण कराएं। उन्होंने कहा कि इस कार्य के लिए मुख्य चिकित्सा अधिकारी, ग्राम प्रधानों व पार्षदों का सहयोग लें। उन्होंने कहा कि पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को जागरूक किया जाए, जिससे लक्षित आयु वर्ग के अधिक से अधिक लोग कोरोना वैक्सीन की डोज प्राप्त करने के लिए प्रेरित हो सकें।
बैठक में मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि राज्य में गत दिवस तक 16 करोड़ 27 लाख 11 हजार से अधिक कोरोना वैक्सीन की डोज लगाई जा चुकी हैं। 05 करोड़ 36 लाख 09 हजार से अधिक लोगों को टीके की दोनों डोज देकर कोविड सुरक्षा कवच प्रदान किया जा चुका है। 11 करोड़ 23 लाख 42 हजार से अधिक लोगों ने कोविड वैक्सीन की पहली डोज प्राप्त कर ली है। यह संख्या टीकाकरण के लिए पात्र प्रदेश की कुल आबादी की 76.20 प्रतिशत है। मुख्यमंत्री जी को अवगत कराया गया कि प्रदेश में अब तक 525 ऑक्सीजन प्लाण्ट क्रियाशील किये जा चुके हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विश्व के अनेक देशों में कोरोना के नए वैरिएंट से संक्रमित लोगों की संख्या मंे काफी बढ़ोत्तरी देखी जा रही है। ऐसे में अतिरिक्त सतर्कता बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि दूसरे देशों से प्रदेश आ रहे हर व्यक्ति की जांच की जाए। बस स्टेशन, रेलवे स्टेशन तथा एयर पोर्ट पर अतिरिक्त सतर्कता बरतते हुए जांच की प्रभावी व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। इण्टरस्टेट कनेक्टिविटी वाले बस स्टेशनों पर जांच को तेजी से बढ़ाया जाए। उन्होंने केन्द्र सरकार द्वारा जारी गाइडलाइंस का प्रभावी अनुपालन सुनिश्चित कराए जाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के दृष्टिगत जीनोम सीक्वंेसिंग की व्यवस्था किए जाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लखनऊ स्थित के0जी0एम0यू0 तथा एस0जी0पी0जी0आई0 सहित गोरखपुर, झांसी एवं मेरठ में जीनोम सीक्वंेसिंग की व्यवस्था की जाए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देशित किया कि निगरानी समितियां पूरी तरह सक्रिय रहें, ताकि कोविड संक्रमित व्यक्तियों की समय से पहचान हो जाए और उनका समय पर उपचार हो सके। उन्होंने ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता, सैनिटाइजेशन व फॉगिंग की कार्यवाही को और तेज किए जाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि परिवहन निगम अपनी सभी बसों को चुस्त-दुरुस्त करे, जिससे जनता को बेहतर सेवाएं मिल सकें। उन्होंने कहा कि कस्तूरबा गांधी बालिका विद्यालयों तथा छात्रावासों में सभी व्यवस्थाओं को ठीक किया जाए। उन्होंने कहा कि इसके लिए एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाए।

Loading...
Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV