देश

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को हाई वोल्टेज ड्रामे की बीच किया गया गिरफ्तार ..

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को लेकर हो रहे कई कयासों के बीच बुधवार रात 8 बजकर 10 मिनट पर हाई वोल्टेज ड्रामे की बीच  पी चिदंबरम कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे. यहां पर उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा कि वे आईएनएक्स(INX) मीडिया केस में निर्दोष हैं वे .चिदंबरम प्रेस कॉन्फ्रेंस कर ही रहे थे कि उन्हें  गिरफ्तार करने सीबीआई टीम वहां के लिए रवाना हो गई.
सीबीआई टीम जब तक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे पी चिदंबरम कांग्रेस मुख्यालय से निकलकर जोरबाग स्थित अपने घर पहुंच गए. पी चिदंबरम को गिरफ्तार करने सीबीआई टीम यहां भी पहुंच गई है.जहाँ बाहरी दरवाजा ना खुलने की वजह से सीबीआई अधिकारियो ने दिवार फंद के अंदर गए .जहा से पी चिदंबरम को गिरफ्तार किया गया .
चिदंबरम के घर के बाहर समर्थको का हंगामा 
इसी बिच चिदंबरम के घर के बाहर समर्थको ने खूब  हंगामा किया . यहां पर कुछ लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम के  नारेबाजी कर रहे हैं. रिपोर्ट के मुताबिक यहां पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कुछ लोगों के साथ धक्का-मुक्की की है.इस बीच पुलिस की एक गाड़ी चिदंबरम के घर के अंदर गई हैं दिल्ली के जोरबाग स्थित पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम के घर पर जमकर हंगामा  हुआ.
सीबीआई की टीम जब जोरबाग पहुंची तो वहां सीबीआई अधिकारियों को अंदर नहीं जाने दिया गया, इसके बाद सीबीआई की टीम चिदंबरम के घर की दीवार फांदकर चिदंबरम के घर के अंदर पहुंची. चिदंबरम के साथ इस वक्त उनके घर पर कांग्रेस नेता कपिल सिब्बल और अभिषेक मनु सिंघवी मौजूद रहे .
बेटे कार्ति चिदंबरम ने पिता की और कही बात –
वही आपको बता दे चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने अपने पिता की गिरफ़्तारी को राजनीति से प्रेरित क़रार दिया है. चेन्नई में पत्रकारों से बात करते हुए कार्ति ने कहा कि कुछ ख़ास लोगों को ख़ुश करने के लिए उनके पिता को गिरफ़्तार किया गया है.उन्होंने कहा,
“ये पूरी तरह से राजनीति से प्रेरित मामला है. ये साल 2008 का मामला है जिस पर 2017 में एफ़आईआर दर्ज की गई थी.
इस मामले में ख़ुद मुझ पर सीबीआई ने चार बार छापा मारा था. मैं एजेंसियों के सामने 20 बार पेश हो चुका हूं और हर बार कम से कम 10 घंटे तक मुझ से पूछताछ हुई थी. मैं सीबीआई के पास 11 दिनों तक रहा था. “

“एक ऐसा मामला जो 2008 में हुआ और जिसके लिए 2017 में एफ़आरआई दर्ज की गई, और अगस्त 2019 में भी उस बारे में चार्जशीट नहीं दाख़िल की जा सकी है, इसका मतलब साफ़ है कि ये कोई केस ही नहीं है.

Loading...

सिर्फ़ कुछ लोगों को ख़ुश करने के लिए ये पूरा नाटक और तमाशा किया जा रहा है. गंभीर मुद्दों से भारत के लोगों का ध्यान हटाने के लिए ये सबकुछ किया जा रहा है. ये पूरी तरह से मनगढ़ंत मामला है जिसे टीवी और मीडिया के लिए किया जा रहा है.”

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV