Main Slide

अयोध्या जाएंगे उद्धव ठाकरे ,भाजपा ने शिवसेना से पूछा- क्या राहुल गांधी को साथ ले जाएंगे सीएम?

महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे सत्ता में आने के 100 दिन पूरे होने के मौके पर 7 मार्च को अयोध्‍या जाएंगे और रामलला के दर्शन कर उनका आशीर्वाद लेंगे। शिवसेना प्रवक्‍ता संजय राउत ने बताया कि मार्च में उद्धव सरकार के 100 दिन पूरे हो रहे हैं और 7 मार्च को उद्धव के अयोध्‍या जाने का कार्यक्रम तय हुआ है। इससे पहले राउत ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को भी अयोध्‍या चलने का न्‍योता दिया था। यह पूछे जाने पर क‍ि बीजेपी राहुल गांधी को अयोध्‍या ले जाने को कह रही है, इस पर राउत ने कहा, ‘क्या बीजेपी नेता जम्मू-कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती को अपने साथ अयोध्या दौरे पर ले जाएंगे?’

Loading...

कभी हिंदुत्‍व के मुद्दे पर आगे बढ़ने वाले शिवसेना के नेता उद्धव ठाकरे का यह अयोध्‍या दौरा ऐसे समय पर हो रहा है जब उनके चचेरे भाई राज ठाकरे ‘भगवा’ रंग में रंगते जा रहे हैं। महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के अध्यक्ष राज ठाकरे ने गुरूवार को अपनी पार्टी का नया भगवा झंडा जारी करके और पाकिस्तानी, बांग्लादेशी घुसपैठियों को देश से बाहर करने के लिए राजग सरकार को समर्थन देने की घोषणा कर संकेत दिया कि वह अपने चाचा बाल ठाकरे की हिंदुत्व की विचारधारा की ओर बढ़ना चाहते हैं।

रामलला के दर्शन करेंगे उद्धव

संजय राउत ने बताया कि 7 मार्च को अयोध्या दौरे के दौरान उद्धव रामलला के दर्शन भी करेंगे। इससे पहले राउत ने 22 जनवरी को बताया था कि सरकार के 100 दिन पूरे होने पर उद्धव ठाकरे अयोध्या जाएंगे। इससे पहले उद्धव 24 नंवबर को अयोध्या जाने वाले थे, लेकिन उस वक्त राज्य में राजनीतिक उठापठक के चलते उन्हें अपना दौरा रद्द करना पड़ा था।

जून में शिवसेना सांसदों के साथ अयोध्या गए थे उद्धव

इससे पहले 2018 में लोकसभा चुनाव के बाद जून में उद्धव ठाकरे पार्टी के सांसदों के साथ अयोध्या गए थे। उस दौरान वे महाराष्ट्र के शिवनेरी किले की मिट्टी भी अपने साथ ले गए थे। अयोध्या में मंदिर-मस्जिद विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद उद्धव ने एक प्रेस कॉफ्रेंस भी की थी।

अयोध्या में मैंने शक्ति को महसूस किया: उद्धव

इसमें मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा था कि वहां (अयोध्या) में एक ऐसी शक्ति है, जिसे मैंने महसूस किया। इसलिए अब मैं बार-बार वहां जरूर जाऊंगा। जन्मभूमि का विवाद भी अब खत्म हो गया।’ इसी दौरान उन्होंने शिवनेरी के किले की मिट्‌टी को भी साथ ले जाने की बात बताई थी। शिवनेरी छत्रपति शिवाजी महाराज का जन्मस्थान है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV