बड़ी खबर

बौद्ध धर्म लोगों को आदर करना सिखाता है बुद्ध द्वारा दी गई सीख आज भी प्रसांगिक है: PM मोदी

संस्कृति मंत्रालय की देखरेख में आज यानी शनिवार को अंतरराष्ट्रीय बौद्ध परिसंघ (IBC), धर्म चक्र दिवस के रूप में आषाढ़ पूर्णिमा मनाएगा.

Loading...

आज ही के दिन महात्मा बुद्ध ने अपने पहले पांच शिष्यों को प्रथम उपदेश दिया था. इसी मौके पर पूरी दुनिया के बौद्ध हर साल इसे धर्म चक्र प्रवर्तन दिवस के रूप में मनाते हैं.

वहीं हिंदू धर्म में आज का दिन गुरु के प्रति सम्‍मान व्‍यक्‍त करने का होता है और इसे‘गुरु पूर्णिमा’ के रूप में भी मनाया जाता है.

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने सुबह 9 बजे के करीब राष्ट्रपति भवन में धर्म चक्र दिवस का उद्घाटन किया. जिसके बाद केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने आयोजित धर्म चक्र दिवस समारोह को संबोधित किया. बाद में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वीडियो के जरिए देशवासियों को संबोधित कर रहे हैं.

# बौद्ध धर्म लोगों को आदर करना सिखाता है. लोगों के लिए आदर करना, गरीबों के लिए आदर रखना, महिलाओं को आदर देना. शांति और अहिंसा का आदर करना. इसलिए बुद्ध द्वारा दी गई सीख आज भी प्रसांगिक है.

इस अवसर पर मंगोलिया के राष्ट्रपति का एक विशेष संबोधन भी पढ़ा जाएगा और मंगोलिया में सदियों से संरक्षित भारतीय मूल की एक बहुमूल्य बौद्ध पांडुलिपि भारत के माननीय राष्ट्रपति को भेंट की जाएगी.

जानकारी के मुताबिक, आज के दिन कई अन्‍य महत्‍वपूर्ण आयोजन भी होने हैं. जैसे कि दुनिया के अलग-अलग हिस्सों से शीर्ष बौद्ध धर्मगुरुओं, विशिष्‍ट जानकारों और विद्वानों के संदेशों को सारनाथ एवं बोधगया से प्रसारित (लाइव स्‍ट्रीमिंग) किया जाएगा.

कोविड 19 महामारी को देखते हुए सारे कार्यक्रम वर्चुअल होंगे. पूरी दुनिया के लगभग 30 लाख लोग आज लाइव वेबकास्ट के जरिए सभी कार्यक्रमों से रूबरू होंगे.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV