देश

जंगलों में नक्सली नेटवर्क ब्रेक करेगी पुलिस, इस रणनीति पर कर रही काम

पुलिस नक्सलियों से निपटने, जंगलों में नक्सली नेटवर्क ब्रेक करने और बॉर्डर कैंप बढ़ाने के साथ बारिश में ज्वाइंट ऑपरेशन तेज करेगी। इसके लिए मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और महाराष्ट्र के जंगलों में पुलिस अपनी पैठ जमाएगी।

Loading...

शुक्रवार को बालाघाट जिले (मप्र) के किरनापुर के बड़गांव में स्थित कोबरा बटालियन के कैंप में गोपनीय बैठक हुई। एडीजी नक्सल ऑपरेशन संजीव कुमार की मौजूदगी में अहम निर्णय लिए गए। उन्होंने मध्य प्रदेश के बालाघाट, मंडला, डिंडौरी समेत इनसे लगे नक्सल प्रभावित महाराष्ट्र व छत्तीसगढ़ के जिलों के पुलिस अधिकारियों को खास टिप्स दिए।

बैठक में तीनों राज्यों के आला पुलिस अफसर व छह जिलों के पुलिस अधीक्षक मौजूद रहे। बैठक में संजीव कुमार ने कहा कि बारिश शुरू होने के साथ ही बढ़ने वाली नक्सली आहट गंभीर है। उन्होंने तीनों राज्यों की पुलिस को नक्सली नेटवर्क तोड़ने के निर्देश दिए हैं।

गौरतलब है कि जंगलों में बसे गांवों में बारिश का फायदा उठाकर नक्सली बैठकें होती हैं। हालांकि इस बार पुलिस जंगलों में बसे गांवों में नक्सलवाद की कमर तोड़ने नक्सलियों की तर्ज पर ग्रामीणों से जनसंवाद बढ़ा रही है।ग्रामीणों से नजदीकियां बढ़ाने और उनके बीच जाकर पुलिस समस्याओं को जानकर समाधान करने का काम कर रही है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV