प्रदेशबिहार

मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौनशोषण मामला: बिहार में उबली सियासत, भिड़े पक्ष-विपक्ष

मुजफ्फरपुर बालिका गृह में यौनशोषण मामले को लेकर बिहार में दिनभर सियासी बयानबाजी तेज रही। विधानमंडल के मानसून सत्र की कार्यवाही में दोनों सदनों के साथ ही लोकसभा में भी इस मामले की गूंज सुनाई दी। इसे लेकर विपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाए तो वहीं भाजपा और जदयू ने कहा कि मामले की जांच चल रही है और जो भी आरोपी होगा उसे सजा मिलेगी। 

Loading...

मुजफ्फरपुर के बालिका गृह में 29 नाबालिग लड़कियों के साथ हुए रेप के मामले में सोमवार को बिहार विधानसभा में राजद के विधायकों ने विरोध प्रदर्शन किया। वहीं, पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी ने इस मामले में सरकार को आड़े हाथों लिया।

राबड़ी ने कहा-बड़े लोगों को बचाया जा रहा है

राबड़ी ने कहा कि मुजफ्फरपुर में बच्चियों के साथ हुई घटना बिहार सरकार की नाकामी दिखाती है। ऐसी सूचना मिल रही है कि बालिका गृह की लड़कियों को बड़े लोगों के सामने पेश किया जाता था। पुलिस छोटे आरोपियों पर कार्रवाई तो कर रही है, लेकिन बड़े लोगों को बचा रही है।

तेजप्रताप ने कहा-सरकार को देना चाहिए जवाब

मुजफ्फरपुर की घटना तेजप्रताप ने कहा कि सरकार के लोग इस तरह का काम करा रहे हैं। सदन में तेजस्वी के सवाल पर सरकार की बोलती बंद रहती है।मुजफ्फरपुर जैसी घटना रोज पूरे बिहार में घट रही है। सरकार इस मामले पर जबाब देना चाहिए। 

जदयू नेता ने कहा-ना हम किसी को बचाते हैं ना फंसाते हैं

इन आरोपों पर जदयू नेता नीरज कुमार ने कहा कि ये सरकार ना किसी को बचाती है ना फंसाती है। जो भी दोषी पाए जाएंगे उन्हें सजा दी जाएगी। बेवजह का आरोप लगाना ठीक नहीं है। 

भाजपा नेता ने कहा-पूरी कड़ाई से हो रही जांच

वहीं भाजपा नेता सह बिहार के स्वास्थ्यमंत्री मंगल पांडेय ने  कहा कि इस मामले पर सरकार की पूरी नजर है। इसकी जांच चल रही है। इससे संबंधित जो भी कार्रवाई होगी, उसे किया जाएगा और आरोपियों को कड़ी सजा दिलाई जाएगी। यह बड़ा ही संवेदनशील घटना है। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV