Main Slideदेश

तेलंगाना चुनाव: टीआरएस को टक्कर देने के लिए बीजेपी-कांग्रेस ने बनाया ‘प्लान’

तेलंगाना में संभावित विधानसभा चुनाव को देखते हुए भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस ने चुनाव प्रचार और रैलियों के लिए तैयारियां शुरू कर दी हैं. जैसे-जैसे राज्य का चुनावी माहौल गर्माता जा रहा है बीजेपी-कांग्रेस चुनावी मोड में आती जा रही हैं. दोनों पार्टियों के लीडर कई रैलियों को संबोधित करेंगे. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने शनिवार को स्पष्ट कर दिया कि उनकी पार्टी तेलंगाना में पूरा जोर लगाएगी. इससे पहले, राज्य के गवर्नर ने विधानसभा भंग करने की सिफारिश स्वीकार कर ली. गवर्नर ने केसी राव से अगले चुनाव तक कार्यभार संभालने का आग्रह किया.

Loading...

तेलंगाना में एक के बाद एक हो रहे राजनीतिक घटनाक्रमों के बाद राव ने अगले 50 दिनों तक 100 विधानसभाओं में बड़ी रैली आयोजित करने की बात कही है. टीआरएस की रैलियों का जवाब देने के लिए बीजेपी ने राज्य में दो बड़ी रैलियां आयोजित करने की योजना बनाई है. चुनाव की तैयारियों पर चर्चा करते हुए तेलंगाना बीजेपी के वरिष्ठ नेता रामचंदर राव ने बताया, “हमने दो बड़ी रैलियां आयोजित करने की योजना बनाई है- एक दक्षिण तेलंगाना में और दूसरी उत्तरी तेलंगाना में. 15 सितंबर को महबूब नगर में एक लाख लोगों के रैली में आने की संभावना है. बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह इस रैली को संबोधित करेंगे.”

दूसरी रैली करीमनगर, उत्तरी तेलंगाना में इस माह के अंत में आयोजित की जाएगी. राव ने आगे बताया, “हम भी 119 विधानसभा क्षेत्रों में बड़ी रैलियां आयोजित करने की योजना बना रहे हैं. इन रैलियों में राष्ट्रीय स्तर के बड़े नेता नितिन गडकरी, सुषमा स्वराज, अरुण जेटली रैली को संबोधित करेंगे. बीजेपी शासित राज्यों के मुख्यमंत्री भी इसमें हिस्सा लेंगे.” उन्होंने बताया, “इसके अलावा, हम कुछ और रैलियां करने की सोच रहे हैं. हमें उम्मीद है कि पीएम मोदी चुनाव के दौरान रैलियों में आएंगे. पार्टी अध्यक्ष अमित शाह कई बार तेलंगाना का दौरा कर चुके हैं. हमने बैठकों के जरिये चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है.”

कांग्रेस का ये है गेम प्लान
बीजेपी के अलावा, कांग्रेस पार्टी ने भी तेलंगाना में चुनाव अभियान के लिए प्लान बनाया है. कांग्रेस के रोडमैप को बताते हुए पूनम प्रभाकर ने बताया, “हम चुनाव का सामना करने के लिए तैयार हैं. यह चुनाव केसीआर के परिवार और तेलंगाना की जनता के बीच लड़ा जाएगा. इस बार हम सरकार बनाएंगे. हमारी पार्टी के राष्ट्रीय स्तर के नेता तेलंगाना आएंगे और आने वाले दिनों में लोगों को संबोधित करेंगे.”

कांग्रेस नेता प्रभाकर ने केसीआर की टीआरएस पार्टी की आलोचना करते हुए कहा, “टीआरएस पार्टी ने दावा किया कि उसने वह कर दिखाया है जो पिछले 60 साल में नहीं हुआ और अब वे कह रहे हैं कि वे आगामी 50 दिनों में 100 मीटिंग आयोजित करेंगे. मैं उनसे पूछना चाहता हूं कि क्या उन्होंने सच में बहुत कुछ किया है. इस तरह से हम समझ सकते हैं कि केसीआर सरकार ने इस कार्यकाल में कुछ नहीं किया है सिवाय दो लाख करोड़ लोन लेने के.”

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close