LIVE TVMain Slideदेशस्वास्थ्य

शरीर में दर्द व् नसों के ढीलेपन से है परेशान तो ऐसे पाए छुटकारा

आज कल के वक्त में कमजोरी, नसों के ढीलेपन आदि की समस्या आम हो गई है. लोगों को अक्सर शरीर में दर्द, सीढ़ियां चढ़ने और उतरने पर सांस फूलना जैसी समस्याओं से रोजाना जूझना पड़ता है.

Loading...

इन सबके अलावा नसों में ढीलेपन की समस्या भी अब आम बात हो गई है. खास तौर पर पुरुषों में यह समस्या हमे देखने को मिलती है. यह समस्या कई जगहों पर आपसी कलह का कारण भी बन जाती है.

आज हम आपके इसी समस्या को दूर करने का एक आसान घरेलु नुस्खा बताने जा रहे हैं. इस नुस्खे का प्रयोग अगर आप करेंगे तो बहुत जल्द ही आप इस समस्या से दूर हो जाएंगे और आपकी जिंदगी खुशहाल हो जाएगी. आइए जानते हैं कैसे बनता है यह नुस्खा.

  • आमतौर पर पूजा में इस्तेमाल होने वाली मिश्री के अंदर कई औषधीय गुण हैं. खासतौर पर धागे वाली मिश्री का सेवन काफी लाभकारी माना जाता है. मिश्री का इस्तेमाल कई आयुर्वेदिक दवाओं के निर्माण में भी किया जाता है.

कई हेल्थ विशेषज्ञों ने अनुसार शरीर में त्वरित ऊर्जा लाने में मिश्री का इस्तेमाल करना काफी अच्छा माना जाता है. इसके अलावा मिश्री के सेवन से शरीर में हीमोग्लोबिन की मात्रा भी सही बनी रहती है. मिश्री के सेवन से पुरुषों के स्पर्म की मात्रा भी सुधरती है, तथा इसका इस्तेमाल खांसी, बुखार के इलाज में भी किया जाता है.

  • बादाम के अंदर कई औषधीय गुण होते हैं. इसके नियमित इस्तेमाल से लोगों को कई फायदे होते हैं. रोज बादाम खाने से लोगों की कमजोरी दूर होती है. इसके सेवन से कोलेस्ट्रॉल भी ठीक रहता है. बादाम हमारे वजन को भी बढ़ने से रोकता है. यह हमारे चेहरे पर आने वाले झुररियों को भी रोकता है.
  • प्राचीन काल से ही सौंफ का प्रयोग हम घरेलु औषधि बनाने में करते आए है. इसका सेवन हम Mouth Freshner रूप में भी करते हैं. सौंफ के सेवन से पेट में गैस की समस्या दूर हो जाती है.

इसके नियमित सेवन से आंखो के रोग, जुकाम, खांसी, सिरदर्द जैसे समस्या दूर होती हैं. इसके अलावा सौंफ इंसान में भूख की कमी को भी दूर करता है. इसका प्रयोग लोग कई व्यंजन में सुंगध लाने के लिए भी करते हैं.

इस नुस्खे को बनाने के लिए हम मिश्री, बादाम और सौंफ को इमामदस्ता में डालेंगे और इसे अच्छे तरह से कूट कर इसका दरदरा पाउडर बना लेंगे. ध्यान रहें कि हम इसे मिक्सी में न पीसें.

इसका सेवन आप दिन में दो बार कर सकते हैं. एक सुबह नाश्ते के बाद और दूसरा रात में खाने के बाद. इसका सेवन दूध में मिलाकर करें. एक ग्लास दूध में 1.5 चम्मच मिश्रण को मिलाकर इसका सेवन करें. इसके सेवन से बहुत जल्द ही आपके नसों में नई जान आ जाएगी और कमजोरी की समस्या भी दूर हो जाएगी.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV