LIVE TVMain Slideदिल्ली एनसीआरदेशसाहित्य

आज दिल्ली सरकार करेगी शिक्षक दिवस के मौके पर शिक्षकों को पुरुस्कार से सम्मानित

दिल्ली के रोहिणी स्थित सर्वोदय विद्यालय की उप प्रधानाध्यापिका भारती कालरा उन 122 स्कूली शिक्षकों में से एक हैं जिन्हें जिन्हें आज यानी रविवार को शिक्षक दिवस के अवसर पर राज्य सरकार द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा.

Loading...

दरअसल पिछले साल कोविड महामारी के दौरान स्मार्टफोन न होने के चलते उनके छात्र ऑनलाइन माध्यम से पढ़ाई नहीं कर पा रहे थे. अपने छात्रों की समस्या को देखकर कालरा ने अपने दोस्तों और परिजनों के जरिये 321 स्मार्टफोन एकत्र किये और छात्रों को उपलब्ध कराये ताकि वे अपनी पढ़ाई जारी रख सकें.

भारती कालरा ने कहा कि मैं केवल अपना कर्तव्य निभाया और मैं खुश हूं कि सरकार ने इसे मान्यता दी. जिन छात्रों के माता पिता स्मार्टफोन नहीं खरीद सकते थे उनकी सहायता करने के बाद, बच्चों की ऑनलाइन कक्षा में उपस्थिति धीरे-धीरे बढ़ने लगी.

दिल्ली सरकार की ओर से जारी एक वक्तव्य में कहा गया, ‘उनके प्रयासों से 321 छात्रों को स्मार्टफोन मिले. इनमें से ज्यादातर कक्षा 10 और 12 के विद्यार्थी हैं. 2021 की बोर्ड परीक्षाओं में छात्रों के प्रदर्शन में उनका महत्वपूर्ण योगदान है. बता दें कि कालरा 19 वर्षों तक गृह विज्ञान की अध्यापिका रही हैं और तीन साल से उप प्रधानाध्यापिका हैं.

इसके अलावा मंगोलपुरी के सर्वोदय को-एड सीनियर सेकंडरी स्कूल में राजनीति विज्ञान की शिक्षिका सरिता रानी भारद्वाज को भी कालरा के साथ ‘विशेष पुरस्कार’ से नवाजा जाएगा. भारद्वाज ने भी उन छात्रों की सहायता की थी महामारी के दौरान ऑनलाइन पढ़ाई के लिए फोन नहीं खरीद सकते थे.

ऐसे छात्रों को भारद्वाज ने कार्यपुस्तिकाएं (वर्कशीट) उपलब्ध कराईं. दिल्ली सरकार ने पांच सितंबर को शिक्षक दिवस पर ‘आभार दिवस’ मनाने और 122 ऐसे शिक्षकों को पुरस्कृत करने का निर्णय लिया है जिन्होंने कोविड महामारी के दौरान अपने कर्तव्यों का निष्ठापूर्वक निर्वहन किया.

विशेष पुरस्कार के अलावा, ‘फेस ऑफ एफओई’ (शिक्षा निदेशालय) नामक नया पुरस्कार भी दिया जाएगा. यह पुरस्कार राजकुमार और सुमन अरोड़ा को प्रदान किया जाएगा.

द्वारका सेक्टर 19 के राजकीय प्रतिभा विकास विद्यालय में संगीत के शिक्षक राजकुमार ने स्कूल में भारतीय शास्त्रीय संगीत को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न गतिविधियों की शुरुआत की. उन्होंने कहा, ‘गणतंत्र दिवस और स्वतंत्रता दिवस पर सांस्कृतिक कार्यक्रमों की तैयारी कराना मेरा दायित्व होता था.

दिल्ली और जम्मू कश्मीर के बच्चों के बीच सांस्कृतिक आदान-प्रदान के लिए ‘मैत्री यात्रा’ कार्यक्रम का मुझे समन्वयक बनाया गया था. राजकुमार के नाम लगातार 32 घंटे 20 मिनट तक सितार बजाने का कीर्तिमान भी गिनीज बुक में दर्ज है.

‘एफओई’ पुरस्कार पाने वाली दूसरी शिक्षिका सुमन अरोड़ा गणित की अध्यापिका हैं और उन्होंने पांच छात्रों को आईआईटी एडवांस परीक्षा उत्तीर्ण करने में सहायता की थी.

आरपीवीवी पश्चिम विहार में गणित पढ़ाने वाली अरोड़ा ने पियर्सन कंपनी में भी काम किया है.बहरहाल, दिल्‍ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के मुताबिक, इस बार अवॉर्ड के लिए 1108 आवेदन आए और इनमें से 122 नाम चुने गए हैं.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV