LIVE TVMain Slideदेशधर्म/अध्यात्म

जाने कब है मार्गशीर्ष अमावस्या और क्या है इस का महत्व ?

हिन्दू कैलेंडर के अनुसार, आज मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की द्वादशी तिथि है. कृष्ण पक्ष में 15वीं तिथि के दिन अमावस्या होती है. इस वर्ष मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर दिन शनिवार को है. मार्गशीर्ष अमावस्या को अगहन अमावस्या भी ​कहते हैं.

Loading...

जिस प्रकार से सोमवार की अमावस्या को सोमवती अमावस्या और मंगलवार की अमावस्या को भौमी अमावस्या के नाम से जाना जाता है, वैसे ही इस बार मार्गशीर्ष अमावस्या शनिवार को है, ऐसे में यह शनैश्चरी अमावस्या है.

अमावस्या के दिन नदी स्नान, जप और दान का विधान है. धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, अमावस्या को स्नान, जप एवं दान से पाप मिटते हैं और ऋण से मुक्ति मिलती है. अमावस्या तिथि को पितरों की आत्म तृप्ति के ​लिए तर्पण, पिंडदान एवं श्राद्ध कर्म भी किए जाते हैं.

आपकी कुंडली में यदि पितृ दोष है, तो इसके निवारण के लिए भी आप उपाय कर सकते हैं. आइए जानते हैं कि मार्गशीर्ष अमावस्या की तिथि क्या है और इसका धार्मिक महत्व क्या है?

मार्गशीर्ष अमावस्या 2021 तिथि
पंचांग के अनुसार, मार्गशीर्ष मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या तिथि आज 03 दिसंबर दिन शुक्रवार को शाम 04:55 बजे से शुरु हो रही है. अमावस्या तिथि का समापन 04 दिसंबर को दोपहर 01:12 बजे हो रहा है. स्नान, दान आदि के लिए उदयातिथि मान्य होती है, इसलिए मार्गशीर्ष अमावस्या 04 दिसंबर को है. मार्गशीर्ष अमावस्या का व्रत इस दिन ही रखा जाएगा.

मार्गशीर्ष अमावस्या का महत्व
पौराणिक मान्यताओं ​के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण ने मार्गशीर्ष माह को स्वयं के समान बताया है, इसका उल्लेख उन्होंने गीता में भी किया है. ऐसे में इस माह का प्रत्येक दिन धार्मिक दृष्टि से अच्छा माना जाता है.

मार्गशीर्ष अमावस्या का दिन पितरों की आत्म तृप्ति और पितृ दोष से मुक्ति के लिए अच्छा होता है. कुंडली के दोषों से मुक्ति एवं संतान प्राप्ति के लिए मार्गशीर्ष अमावस्या का व्रत रखा जाता है.

मार्गशीर्ष अमावस्या और दान
मार्गशीर्ष अमावस्या के दिन स्नान के बाद गर्म वस्त्र, कंबल, चादर, उड़द की दाल, तिल, तेल, राई, रूई आदि का दान गरीबों को करना चाहिए. इससे पुण्य की प्राप्ति होती है.

श्रीसत्यनारायण भगवान की पूजा
मार्गशीर्ष अमावस्या के अवसर पर श्रीसत्यनारायण भगवान की आराधना करने, कथा सुनने एवं आरती करने से मनोकामनाओं की पूर्ति होती है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV