Main Slideउत्तर प्रदेशखबर 50देशधर्म/अध्यात्मप्रदेशबड़ी खबर

भारतवर्ष का बच्चा-बच्चा प्रभु श्रीराम जैसा आदर्श बने,रामोत्सव में वायुयान से होगी पुष्पवर्षा

कानपुर । रामोत्सव का उद्देश्य है, कि भारतवर्ष का बच्चा-बच्चा प्रभु श्रीराम जैसा आदर्श बने। नई युवा पीढ़ी भी रामत्व से अभिभूत हो। अयोध्या में रामलला का भव्य मन्दिर निर्माण हो रहा है। यह बात विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय मंत्री एवं धर्माचार्य सम्पर्क प्रमुख अशोक तिवारी जी ने बुधवार को मीडिया से बातचीत के दौरान कही। उन्होंने निराला नगर स्थित रेलवे मैदान में 17 अप्रैल को हो रहे रामोत्सव की तैयारियों का निरीक्षण भी किया।विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय मंत्री ने बताया कि,कानपुर प्रान्त के कन्नौज,फर्रुखाबाद,इटावा,औरैया,उरई,झाँसी, ललितपुर,हमीरपुर,बाँदा,चित्रकूट,फतेहपुर,महोबा समेत 21 जनपदों के 200 प्रखण्डों की लगभग 8000 नगरीय-ग्रामीण बस्तियों ग्रामों से हजारों बच्चे कार्यक्रम में आएंगे। हिन्दू समाज के विभिन्न पन्थों की भी भव्य झाँकियों समेत सेल्फी पॉइन्ट बनाये जाएँगे। महाराष्ट्र के युद्धक वाद्ययंत्रों के प्रदर्शन के साथ ही शिव गर्जना भी होगी। 21 लालित्य कलाओं का प्रदर्शन एवं 21 प्रतिभाओं का भी अलंकरण होगा। वायुयान से पुष्पवर्षा भी होगी। लाखों रामभक्तों के बैठने की व्यवस्था हेतु विशाल पण्डाल को 20 ब्लॉकों में बांटा जाएगा। रामोत्सव में विशाल पुष्पक विमान पर 6000 गांवों से आ रहे हजारों बच्चे प्रभु श्रीराम का स्वरूप धारण कर विराजमान होंगे। हिंदू धर्म के सभी ग्रंथों से साधू संत समरसता मंच पर विराजेंगे। वहीं मंगलवार को कार्यक्रम स्थल पर विश्व हिंदू परिषद की ओर से प्रभु श्रीराम के भगवा ध्वज की स्थापना की गई थी। प्रेस वार्ता में प्रान्त प्रचार प्रसार प्रमुख ओमेन्द्र अवस्थी भी मौजूद रहे। 

Loading...
Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV