Main Slideधर्म/अध्यात्म

मां लक्ष्मी को पसंद नहीं मनुष्य की ये 6 आदतें, जल्द कर देती हैं कंगाल

आर्चाय चाणक्य को भारत ही दुनिया का पहला राजनीतिज्ञ, अर्थशास्त्री और समाज शास्त्री माना जाता है। आचार्य चाणक्य की गिनती श्रेष्ठ विद्वानों में की जाती हैं। चाणक्य को विष्णुगुप्त और कौटिल्य के नाम से जाना जाता है। आचार्य चाणक्य को अर्थशास्त्र, कूटनीति, समाजशास्त्र का ज्ञानी माना जाता है। चाणक्य विलक्षण प्रतिभा के धनी थे और असाधारण और बुद्धि के स्वामी थे। आचार्य चाणक्य ने अपने बुद्धि कौशल का परिचय देते हुए ही चंद्रगुप्त मौर्य को सम्राट बनाया था।

Loading...

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र में आदर्श जीवन के बारे में विस्तार से बताया है। इसके साथ ही उन्होंने मनुष्य को आदर्श जीवन को जीने के तरीके भी बताए हैं। चाणक्य नीति व्यक्ति को सही ढंग से जीवन जीना सिखाती हैं। चाणक्य ने अपने एक श्र्लोक में बताया कि व्यक्ति की किन आदतों के कारण माता लक्ष्मी की कृपा नहीं बरसती है। साथ ही ऐसे लोग धन लाभ से भी वंचित रह जाते हैं।

आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र ग्रंथ में इंसान को बेहतर जीवन व्यतीत करने के लिए कई तरह की नीतियों का जिक्र किया है, जो जीवन को सफल बनाने की कला को सिखाती है। साथ ही चाणक्य की वो नीतियां जीवन से जुड़ी कई चीजों को सही ढ़ंग से आगे बढ़ाने में सहायक है। बेहतर जीवन व्यतीत करने के लिए आचार्य चाणक्य ने अपने नीति शास्त्र ग्रंथ में कई तरह की नीतियों का वर्णन किया है। उनकी नीतियां व्यक्ति को जीने की कला सिखाती हैं। श्लोक के जरिए से उन्होंने बताया है कि व्यक्ति को किन आदतों को त्याग देना चाहिए। एक श्लोक में आचार्य चाणक्य ने कुछ ऐसी बातें बताई हैं, जिसके कारण लोगों पर लक्ष्मी की कृपा नहीं बनी रहती….

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV