Main Slideउत्तराखंडदेश

उत्तराखंड: दर्दनाक हादसे में 10 लोगों की मौत, तड़पते रहे लोग, 30 किमी दूर जाकर…

उत्तराखंड में आये दिन सड़क दुर्घटना की खबर सामने आती रहती है। सड़क हादसों को रोकने के लिए आज तक वहां के प्रशासन ने कोई ठोस कदम नहीं उठाया ,जिसका शिकार वहां की जनता आये दिन बनती रहती है। सड़क हादसे की एक और दिल दहला देने वाली ख़बर रविवार को चमोली से आयी।

Loading...

बता दें कि रविवार को देवाल के दूरस्थ क्षेत्र बलाण में दर्दनाक सड़क दुर्घटना की खबर सामने आई। लेकिन ये ख़बर प्रशासन तक पहुंचने में दो घंटे लग गए। ऐसे में जिन घायलों की बचने की उम्मीद भी थी, देरी के कारण उन्होंने भी दम तोड़ दिया। दरअसल, देवाल से आगे घेस घाटी में आज भी संचार की कोई सुविधा नहीं है। जिसके चलते वहां के लोगों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

बताया गया कि यहां से कोई भी सूचना देने के लिए 30 किमी दूर सवाड़ के नजदीक आकर ही कनेक्टिविटी मिल पाती है। रविवार को हुई दुर्घटना की सूचना देने के लिए ग्रामीणों को दुर्घटनास्थल से 30 किमी दूर सवाड़ आना पड़ा। तब जाकर प्रशासन व 108 से संपर्क हो पाया।

जिसके बाद प्रशासन को यहां पहुंचने में ही दो घंटे लग गए। सड़कों की बदहाल स्थिति के चलते यहां पर वाहन 20 किमी प्रति घंटा से अधिक की रफ्तार से नहीं चल सकते। इस कारण भी प्रशासन की टीम को दुर्घटनास्थल तक पहुंचने में देर हो गई।

मिली जानकारी के अनुसार दुर्घटना का कारण जहां वाहन असंतुलन होना बताया जा रहा है वहीं कुछ घायलों का कहना है कि सड़क की स्थिति भी बदहाल है और सड़क में गहरे गड्ढे और मलबा होने के चलते वाहन असंतुलित हो जाते हैं। डीएम स्वाति एस भदौरिया ने अस्पताल में जाकर घायलों का हालचाल जाना।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV