धर्म/अध्यात्म

अगर कुंडली मे यह दोष है तो, हो सकती है पैसो की तंगी जानिए उपाय !

सार्वजनिक क्षेत्र अथवा निजी क्षेत्र में कार्य करने वाले लोगों के करियर जीवन में उतार-चढ़ाव आना लाजमी है। परन्तु यदि ये उतार-चढ़ाव बहुत ही तेजी और नियमित रूप से आ रहे हैं तो समझिए कुंडली में ग्रह नक्षत्र की स्थिति अनुकूल नहीं है। यहां उतार-चढ़ाव का आशय बार-बार नौकरी का छूटना या तबादला होना है। आर्थिक जीवन में धन की कमी बने रहना आदि।

Loading...

अगर कुंडली में ये तीनों भावों की स्थिति शुभ है तो व्यक्ति अपने कार्यक्षेत्र में खूब तरक्की करता है। वहीं कमजोर होने पर उसे करियर क्षेत्र में परेशानियां आती हैं।

कुंडली में दूसरा भाव धन के लिए होता है। वहीं बारहवां भाव खर्च को दर्शाता है। ये तीनों भाव धन से संबंधित हैं। यदि कुंडली में ये तीनों भाव मजबूत हैं तो व्यक्ति का आर्थिक जीवन खुशहाल रहता है।

ज्योतिष में करियर और धन से संबंधित उपाय
कुंडली के दूसरे भाव में जो राशि है उसके स्वामी ग्रह की शांति के उपाय करें।
कुंडली में तृतीय घर में राशि बैठी है उसके मालिक ग्रह की शांति करें।
दशम भाव में स्थित राशि के स्वामी ग्रह को बलवान करें।
एकादश भाव में बैठी राशि के स्वामी ग्रह को मजबूत बनाएं।
बाहरवें भाव को प्रबल करें। इसके लिए इस भाव के स्वामी ग्रह को बली बनाएं।
साथ ही दूसरे, तीसरे, दसवें, ग्यारहवें और बारहवें भावों में बैठे ग्रहों को भी मजबूत करें।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV