Main Slideउत्तर प्रदेशदिल्ली एनसीआरदेश

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक की अध्यक्षता की अब एक से पांच जनवरी तक निकलेगी गंगा यात्रा

आपको बता दे की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय गंगा परिषद की पहली बैठक की अध्यक्षता की इस बैठक का आयोजन उत्तर प्रदेश के कानपुर में किया गया। परिषद की पहली बैठक का उद्देश्य संबंधित राज्यों के सभी विभागों के साथ-साथ केंद्रीय मंत्रालयों में ‘गंगा केंद्रित’ दृष्टिकोण के महत्व पर विशेष रूप से ध्‍यान देना है।

Loading...

परिषद को  गंगा और उसकी सहायक नदियों सहित नदी गंगा बेसिन के प्रदूषण निवारण और कायाकल्प की पूरी जिम्मेदारी सौपी गई है।साथ ही प्रधानमंत्री ने गंगा से संबंधित आर्थिक गतिविधियों पर ध्यान केंद्रित करने के साथ एक सतत विकास मॉडल ‘नमामि गंगे’ को ‘अर्थ गंगा’ में परिवर्तित करने की एक समग्र सोच विकसित करने का आग्रह किया है इसी के बाद अब एक से पांच जनवरी तक निकलेगी गंगा यात्रा सरकार और संगठन  साथ निकालेगी गंगा यात्रा

संगठन बैठकों में सांसदों और विधयकों के साथ पार्टी कार्यकर्ता भी होंगे सामिल सरकार की ओर से गंगा यात्रा की तैयारियो के लिए जल शक्ति विभाग को दी गयी जिम्मेदारी 1026 ग्राम पंचायतों से होकर गुजरने वाली गंगा यात्रा में पीएम ,सीएम व केंद्रीय मंत्री होंगे सामिल मुख्य सचिव आरके तिवारी ने बैठक करके अधिकारियो को जारी किए निर्देश है वही बतादे की सीएम व पीएम केंद्रीय मंत्रियो की गंगा यात्रा के दौरान रात्रि विश्राम भी कर सकते है

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV