विदेश

उतरा अमेरिका इजरायल के पक्ष में उतरेगा, कहा- अंतरराष्‍ट्रीय अपराध न्‍यायालय की जांच निष्‍पक्ष नहीं.

फिलिस्तीनी क्षेत्रों में इजरायली हवाई हमले को अपराध मानना और उसकी जांच करने के लिए अदालत के मुख्‍य अभियोजक के कदम को वाशिंगटन ने गंभीर प्रतिक्रिया दी है। उन्‍होंने कहा कि यह युद्ध नहीं है, अपराध नहीं है, बलिक्‍ फिलिस्तीनी क्षेत्रों में आतंकवादियों के खिलाफ की गई एक कार्रवाई है। उन्‍होंने कहा कि यह जांच इजरायल के साथ अन्‍याय है। इज़राइल को गलत तरीके से लक्षित करने का प्रयास किया जा रहा है।

Loading...

मध्‍यपूर्व में गाजा पट्टी सबसे विवादास्‍पद क्षेत्रों में से एक है। गाजा पट्टी बारुदी सुरंग पर बैठा हुआ है। इसको लेकर पिछले 70 सालों से विवाद चल रहा है। गाजा पट्टी एक फिलिस्तीनी क्षेत्र है। यह मिस्त्र और इजरायल के मध्य भूमध्यसागरीय तट पर स्थित है। यानी इसके एक ओर भूमध्य सागर है तो दूसरी ओर इजरायल तथा एक हिस्सा मिस्र को भी छूता है। यह मात्र 40 किमी लंबी और 10 किमी चौड़ी पट्टी है।

1947 के बाद जब संयुक्‍त राष्‍ट्र (UN) ने फिलिस्तीन को यहूदी और अरब राज्य में बांट दिया था, जिसके बाद से फिलिस्तीन और इजराइल के बीच संघर्ष जारी है। इसमें सबसे अहम मुद्दा इजराइल को राज्य के रूप में स्वीकार करने का है तो दूसरा गाजा पट्टी का है जो इजराइल की स्थापना के समय से ही इजरायल और दूसरे अरब देशों के बीच संघर्ष का कारण साबित हुआ है।

अंतरराष्‍ट्रीय अपराध न्‍यायालय में इजरायल को खींचे जाने पर अमेरिका ने मजबूती से विरोध किया है। अमेरिकी विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ ने कहा कि गाजा संघर्ष को लेकर मामला अंतरराष्‍ट्रीय अपराध न्‍यायालय में ले जाना एकपक्षीय घटना है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV