Main Slideदिल्ली एनसीआरबड़ी खबर

दिल्ली के शाहीन बाग में लंबे समय से संशोधित नागरिकता कानून के खिलाफ प्रदर्शन जारी

आपको बता दे शाहीन बाग में सुप्रीम कोर्ट की तरफ से नियुक्त वार्ताकारों की प्रदर्शनकारियों से दो राउंड की बातचीत का कुछ फर्क नहीं पड़ा आज एक बार फिर वार्ताकार प्रदर्शनकारियों के बीच बातचीत करने पहुंचेंगे. देखना होगा कि 69 दिनों से जारी धरना-प्रदर्शन का दौर आज खत्म हो पाएगा. आज 10-15 प्रदर्शकारियों के अलग-अलग समूह से वार्ताकार बात कर सकते हैं आज लगातार तीसरे दिन वार्ताकार संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और वजाहत हबीबुल्लाह शाहीन बाग में आंदोलनकारियों के बीच पहुचेंगे और शाहीन बाग को खुलवाने की कोशिश करेंगे.

Loading...

गुरुवार की बातचीत के बाद वार्ताकारों ने एक वीडियो जारी कर पूरे घटनाक्रम का ब्योरा सामने रखा. पूरी बातचीत में दोनों वार्ताकारों ने आंदोलनकारियों को भरोसा दिलाने की कोशिश की और सुप्रीम कोर्ट पर भरोसा रखने की नसीहत भी दी.गुरुवार को दूसरे दिन की बातचीत में वार्ताकारों ने प्रदर्शनकारियों के सामने इस बात पर जोर दिया कि सड़क खुल जाए और प्रदर्शन भी चलता रहे. शाहीन बाग में ऐसा कोई रास्ता निकाला जाए.

बीते दिन काफी देर तक आंदोलनकारियों और वार्ताकारों के बीच बातचीत का सिलसिला चलता रहा. अंत में जब कोई नतीजा निकलता नहीं दिखा तो बात करने लायक माहौल ना होने की बात कहकर साधना रामचंद्रन नाराज हो गईं.69 दिन से शाहीन बाग का धरना चल रहा है. इस धरने के बहाने नेताओं ने सियासी फायदा भी उठाया, लेकिन प्रदर्शनकारियों के हिस्से मायूसी के सिवा कुछ नहीं आई. सरकार का इरादा साफ है तो उधर शाहीन बाग के प्रदर्शनकारी भी अड़े हैं. इस सबके बीच घंटों की जद्दोजहद के बाद वार्ताकारों ने दो टूक कह दिया कि ऐसे सामूहिक रूप से बातचीत मुमकिन नहीं.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV