ASAMLIVE TVMain Slideखबर 50दिल्ली एनसीआरदेशबड़ी खबरव्यापार

RBI गवर्नर की प्रेस कॉन्फ्रेंस आज EMI को लेकर होगा ऐलान

कोरोना वायरस की वजह से देश में 21 दिनों का लॉकडाउन है. ऐसे में अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ रहा है. लोगों को राहत देने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें लगातार बड़े ऐलान कर रही है. वहीं, केंद्र सरकार के बाद अब RBI ने राहत देते हुए ब्याज दरों में कटौती करने का ऐलान किया है. RBI ने रेपो रेट 0.75 फीसदी घटाकर 4.40 फीसदी कर दी है. इस फैसले से बैंकों के साथ-सााथ आम आदमी को भी राहत मिलेगी. जल्द बैंक अपने ग्राहकों की EMI कम करने को लेकर फैसले ले सकते है. आपको बता दें कि नए बेंचमार्क फॉर्मूले पर आधारित ब्याज दर वाले होम लोन की EMI ही कम होंगी.

MCLR वाले होम लोन की EMI कम होन में अभी समय लगेगा RBI का फैसला- RBI की कटौती के बाद रेपो रेट 5.15 से घटकर 4.45 फीसदी पर आ गया है. रेपो रेट की यह कटौती आरबीआई इतिहास की सबसे बड़ी है. आपको बता दें कि बीते दो मौद्रिक समीक्षा बैठक में आरबीआई ने रेपो रेट को लेकर कोई फैसला नहीं लिया था इसके साथ ही आरबीआई ने रिवर्स रेपो रेट में भी 0.90 फीसदी की कटौती करते हुए 4 फीसदी कर दी है. रेपो रेट कटौती का फायदा होम, कार या अन्य तरह के लोन लेने वाले लोगों को मिलेगा RBI की मॉनेटरी पॉलिसी रिव्यू 3 अप्रैल को होने वाला था. लेकिन मौजूदा हालत को देखते हुए इसे जल्दी कर दिया गया.

RBI गवर्नर ने कह, मॉनेटरी पॉलिसी कमिटी ने 24, 25 और 26 मार्च को बैठक कर लिया ताकि रेट कट का ऐलान जल्दी हो सके.CRR में कटौती से बैंकों को 1.37 लाख करोड़ रुपये मिलेंगे. CRR में कटौती 1 साल के लिए लागू होगी. मार्जिन स्टेंडिंग फैसिलिटी कैप 2 फीसदी से बढ़कर 3 फीसदी की गई है.

बैंक, NBFCs को सभी टर्म लोन पर 3 महीने का MORATORIUM मिलेगा इसके साथ ही नेट फंडिंग रेश्यो नियम को 6 महीने के लिए टाला जा रहा है.

उन्होंने आगे कहा कि सिस्टम में पिछले MPC से अबतक 2.8 लाख करोड़ रुपये डाले गए हैं. भारतीय बैंकिंग सिस्टम सुरक्षित और मजबूत है. बैंकों ग्राहकों को चिंतित होने की जरुरत नहीं है. सुरक्षित रहिए और डिजिटल को बढ़ावा दीजिए.विश्व के कई देशों में आंतक मचाने के बाद भारत में कोरोना पैर पसार चुका है. इसके असर से लड़ने के लिए भारत सरकार ने गुरुवार को ही 80 करोड़ लोगों के लिए बड़े ऐलान किए हैं और 1.70 लाख करोड़ रुपये का आर्थिक राहत दिया है.

Related Articles

Back to top button