जम्मू कश्मीर

अनंतनाग में CRPF पर आतंकी हमलेे में दो जवान शहीद, लश्कर ने ली हमले की जिम्मेदारी

दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में शुक्रवार को आतंकी हमले में दो सीआरपीएफ कर्मी शहीद हो गए और एक अन्य सीआरपीएफ कर्मी समेत दो लोग जख्मी हो गए। हमले के बाद भागने में कामयाब रहे आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने एक तलाशी अभियान चला रखा है। इस हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-ताईबा ने ली है। दक्षिण कश्मीर के अनंतनाग में शुक्रवार को आतंकी हमले में दो सीआरपीएफ कर्मी शहीद हो गए और एक अन्य सीआरपीएफ कर्मी समेत दो लोग जख्मी हो गए। हमले के बाद भागने में कामयाब रहे आतंकियों को पकड़ने के लिए सुरक्षाबलों ने एक तलाशी अभियान चला रखा है। इस हमले की जिम्मेदारी लश्कर-ए-ताईबा ने ली है।    शहीद सीआरपीएफ कर्मियों की पहचान एएसआई एमएल मीणा और कांस्टेबल संदीप कुमार यादव के रुप में हुई है। घायल सीआरपीएफ कर्मी का नाम मदन कुमार और नागरिक की पहचान गुलाम रसूल के रुप में हुई है।   यहां मिली जानकारी के अनुसार, आज सुबह 10:55 बजे अनंतनाग के अच्छाबल चौराहे पर सीआरपीएफ की 96वीं वाहिनी की डेल्टा कंपनी के जवानों का एक दल नियमित आरओपी (रोड ओपनिंग पार्टी) डयूटी के तहत अच्छाबल चौक से गुजर रहा  था। अचानक वहां आतंकियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर हमला करते हुए अपने स्वचालित हथियारों से फायरिंग कर दी। कुछ लोगों का दावा है कि आतंकी कार में सवार थे तो कईयों ने कहा कि आतंकी मोटरसाईकल पर आए थे।    पीडीपी कार्यकर्त्ता की पत्नी को आतंकियों ने मौत के घाट उतारा यह भी पढ़ें आतंकियों के हमले में तीन सीआरपीएफ कर्मी और एक स्थानीय नागरिक गोली लगने से जख्मी हो जमीन पर गिर पड़े। अन्य जवानों ने तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर करना चाहा। लेकिन गोलियों की आवाज से वहां फैली अफरा तफरी में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भागते देख जवानों ने नागरिक क्षति से बचने के लिए संयम बरता इस बीच आतंकी भाग निकले।   इस बीच , आतंकी हमले की सूचना मिलते ही आस-पास के शिविरों में मौजूद अन्य सुरक्षाबल भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने  घायलों को निकटवर्ती अस्पताल मे उपचार के लिए पहुंचाने का बंदोबस्त करते हुए पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली।    आतंकियों को पकड़ने को छह जगह चलाए कासो यह भी पढ़ें घायलों को पहले अच्छाबल अस्पताल ले जाया गया,जहां डाक्टरों ने एएसआई एमएल मीणा को शहीद करार दे दिया। अन्य सीआरपीएफ कर्मियों संदीप कुमार व मदन कुमार को प्राथमिक उपचार के बाद श्रीनगर स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल भेजा गया,जहां कुुछ देर बाद संदीप कुमार ने भी दम तोड़ दिया।   संबधित पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हमले में लिप्त आतंकियों को पकड़ने के लिए घटनास्थल के आस-पास के इलाकों में तलाशी अभियान चलाया गया है। संदिग्ध तत्वों की भी निशानदेही की जा रही है। जल्द ही आतंकियों को पकड़ लिया जाएगा।    सैन्य शिविर पर आतंकियों का ग्रेनेड हमला नाकाम यह भी पढ़ें इस बीच, लश्कर-ए-ताईबा के प्रवक्ता डा अब्दुल्ला गजनवी ने स्थानीय पत्रकारों से संपर्क कर बताया कि अच्छाबल में हमला लश्कर के लड़कों ने किया है। इस हमले में दो सीआरपीएफकर्मी मारे गए हैं। लश्कर प्रवक्ता ने आने वाले दिनों में सुरक्षाबलों के खिलाफ अपने हमले और तेज करने की धमकी भी दी है।

Loading...

शहीद सीआरपीएफ कर्मियों की पहचान एएसआई एमएल मीणा और कांस्टेबल संदीप कुमार यादव के रुप में हुई है। घायल सीआरपीएफ कर्मी का नाम मदन कुमार और नागरिक की पहचान गुलाम रसूल के रुप में हुई है। 

यहां मिली जानकारी के अनुसार, आज सुबह 10:55 बजे अनंतनाग के अच्छाबल चौराहे पर सीआरपीएफ की 96वीं वाहिनी की डेल्टा कंपनी के जवानों का एक दल नियमित आरओपी (रोड ओपनिंग पार्टी) डयूटी के तहत अच्छाबल चौक से गुजर रहा  था। अचानक वहां आतंकियों ने सीआरपीएफ के जवानों पर हमला करते हुए अपने स्वचालित हथियारों से फायरिंग कर दी। कुछ लोगों का दावा है कि आतंकी कार में सवार थे तो कईयों ने कहा कि आतंकी मोटरसाईकल पर आए थे। 

आतंकियों के हमले में तीन सीआरपीएफ कर्मी और एक स्थानीय नागरिक गोली लगने से जख्मी हो जमीन पर गिर पड़े। अन्य जवानों ने तुरंत अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर करना चाहा। लेकिन गोलियों की आवाज से वहां फैली अफरा तफरी में लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भागते देख जवानों ने नागरिक क्षति से बचने के लिए संयम बरता इस बीच आतंकी भाग निकले। 

इस बीच , आतंकी हमले की सूचना मिलते ही आस-पास के शिविरों में मौजूद अन्य सुरक्षाबल भी मौके पर पहुंच गए। उन्होंने  घायलों को निकटवर्ती अस्पताल मे उपचार के लिए पहुंचाने का बंदोबस्त करते हुए पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली। 

घायलों को पहले अच्छाबल अस्पताल ले जाया गया,जहां डाक्टरों ने एएसआई एमएल मीणा को शहीद करार दे दिया। अन्य सीआरपीएफ कर्मियों संदीप कुमार व मदन कुमार को प्राथमिक उपचार के बाद श्रीनगर स्थित सेना के 92 बेस अस्पताल भेजा गया,जहां कुुछ देर बाद संदीप कुमार ने भी दम तोड़ दिया। 

संबधित पुलिस अधिकारियों ने बताया कि हमले में लिप्त आतंकियों को पकड़ने के लिए घटनास्थल के आस-पास के इलाकों में तलाशी अभियान चलाया गया है। संदिग्ध तत्वों की भी निशानदेही की जा रही है। जल्द ही आतंकियों को पकड़ लिया जाएगा। 

इस बीच, लश्कर-ए-ताईबा के प्रवक्ता डा अब्दुल्ला गजनवी ने स्थानीय पत्रकारों से संपर्क कर बताया कि अच्छाबल में हमला लश्कर के लड़कों ने किया है। इस हमले में दो सीआरपीएफकर्मी मारे गए हैं। लश्कर प्रवक्ता ने आने वाले दिनों में सुरक्षाबलों के खिलाफ अपने हमले और तेज करने की धमकी भी दी है। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV