जम्मू कश्मीर

जम्मू-कश्मीर के बारामुला में घुसपैठ की कोशिश नाकाम, एक आतंकी ढेर

सेना ने रविवार को उत्तरी कश्मीर में बारामुला के उड़ी सेक्टर में घुसपैठियों के खिलाफ शुरू किए गए अपने आप्रेशन कस्तूरी टॉप में एक आतंकी को मार गिराया है। फिलहाल, उसके अन्य साथियों को मार गिराने का अभियान जारी है। बीते चौबीस घंटों के दौरान उत्तरी कश्मीर में गुलाम कश्मीर की तरफ से मारे गए घुसपैठियों की तादाद चार हाे गई है। गत रात टंगडार सेक्टर में घुसपैठ करते हुए तीन आतंकी मारे गए थे।

Loading...

सूत्रों की मानें तो रविवार देर रात स्वचालित हथियारों से लैस पांच से छह आतंकियों के गुलाम कश्मीर की तरफ से उड़ी सेक्टर में दाखिल होने का पता चलते ही उनके खिलाफ एक अभियान शुरू किया गया था। यह आतंकी कस्तूरी टॉप पहाड़ी के रास्ते घुसे थे और इसलिए इस अभियान का नाम कस्तूरी टॉप रखा गया। आज सुबह पांच बजे के करीब जवानों ने एक जगह घुसपैठियों को देखते ही ललकारा।

घुसपैठियों ने जवानों की ललकार पर फायरिंग कर दी। जवानों ने भी अपनी पोजीशन ली और जवाबी फायर किया। इसके बाद दोनों तरफ से गोलियों की बौछार शुरू हो गई। इस दौरान एक घुसपैठिया मारा गया। अन्य वहां से किसी तरह बच निकले। लेकिन उन्हें पकड़ने के लिए सेना के जवानोंने अपना अभियान जारी रखा हुआ है।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने जिला बारामुला के अंतर्गत उड़ी सेक्टर में घुसपैठ के एक प्रयास को नाकाम बनाने की पुष्टि करते हुए बताया कि अभी तक एक आतंकी मारा गया है। उसके अन्य साथियों को मार गिराने का अभियान जारी है। संभावना है कि वह जान बचाते हुए वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागे हैं। 

सेना ने शनिवार को उत्तरी कश्मीर के टंगडार (कुपवाड़ा) सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर घुसपैठ के प्रयास को नाकाम बनाते हुए तीन पाकिस्तानी आतंकियों को मार गिराया था। उनके अन्य साथियों की धरपकड़ के लिए सेना ने सघन तलाशी अभियान चला रखा है। सैन्य अधिकारियों ने बताया कि टंगडार सेक्टर में बलथारिया इलाके में सेना की छह गढ़वाल रेजिमेंट के जवानों ने दोपहर को एलओसी पर कुछ संदिग्ध गतिविधियां देखीं। जवानों ने अग्रिम इलाकों में तलाशी अभियान चलाया। शाम करीब साढ़े चार बजे उन्होंने घुसपैठियों के दल को भारतीय इलाके में देखा।

जवानों ने घुसपैठियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। इस पर घुसपैठियों ने गोलीबारी शुरू की दी। जब सेना ने जवाबी कार्रवाई की तो घुसपैठिये वापस गुलाम कश्मीर की तरफ भागने लगे। कुछ वहीं छिप गए। उसके बाद मुठभेड़ शुरू हो गई। सवा दो घंटे तक दोनों तरफ से गोलियां चलती रहीं। आतंकियों की ओर से गोलीबारी थमने के बाद जब जवानों ने सावधानीपूर्वक आगे बढ़ते हुए मुठभेड़स्थल की तलाशी ली तो उन्हें वहां गोलियों से छलनी तीन आतंकियों के शव मिले। घुसपैठियों की तादाद पांच थी। तीन मारे गए हैं और दो के एलओसी पर कहीं छिपे होने की आशंका से इन्कार नहीं किया जा सकता। एहतियात के तौर पर पूरे इलाके में तलाशी अभियान चल रहा है।

गौरतलब है कि टंगडार सेक्टर में 13 अगस्त से पाकिस्तानी सैनिक रोज अंधेरा होते ही आतंकियों की घुसपैठ करवाने के लिए संघर्षविराम का उल्लंघन कर भारतीय ठिकानों पर गोलाबारी कर रहे हैं।हथियार व अन्य सामान बरामदमारे गए आतंकियों के पास से तीन एसाल्ट राइफलें, 14 मैगजीन, ग्रेनेड, कारतूस व अन्य साजो सामान मिला है। सूत्रों की मानें तो तीनों आतंकियों को स्थानीय लोगों की मदद से सेना ने दफना दिया है। हालांकि आधिकारिक तौर पर इसकी पुष्टि नहीं हुई है।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close