दिल्ली एनसीआरप्रदेश

जेवर एयरपोर्ट: प्रभावित किसानों की मदद के लिए उद्यमी और बिल्डर तैयार

नोएडा में एयरपोर्ट बनने संबंधी परेशानियों को दूर करने के लिए अब जिला प्रशासन विभिन्न संगठनों जैसे क्रेडाई, एनईए, आईएमए आदि से मदद ले रहा है। बुधवार को सेक्टर-27 स्थित डीएम कैंप कार्यालय में जेवर एयरपोर्ट के संबंध में डीएम ने कई संगठनों के साथ बैठक की। इस दौरान क्रेडाई (कंफेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन इन इंडिया) एवं एनईए (नोएडा एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन )द्वारा जिला प्रशासन को हर संभव सहयोग देने की बात कही गई। क्रेडाई द्वारा जेवर एयरपोर्ट बनने से प्रभावित लोगों के लिए एक टाउनशिप परियोजना का भी प्रस्ताव दिया गया।

Loading...

जिलाधिकारी बीएन सिंह ने बताया कि जेवर एयरपोर्ट बनने से जिले के सभी लोगों को फायदा मिलेगा। ऐसे में सभी संगठन इस योजना में सहयोग देने के लिए तैयार हैं। इस परियोजना में 2200 परिवार प्रभावित हो रहे हैं। ऐसे में इनकी बेहतरी के लिए सभी संगठन सहयोग करना चाहते हैं। एनईए, आईआईए, ग्रेनो क्रेडाई आदि से बात करने के बाद उन लोगों ने कई प्रस्ताव हमारे सामने रखे हैं। 

क्रेडाई ने दिया तीन तरह से मदद का आश्वासन
क्रेडाई प्रभावित परिवारों को रोजगार, स्किल डेवलपमेंट और पुनर्वास में मदद करेगा। क्रेडाई पश्चिमी उत्तर प्रदेश सब सेंटर के सचिव सुरेश गर्ग ने बताया कि क्रेडाई प्रभावित परिवारों को रोजगार दिलाने के लिए हर संभव प्रयास करेगा। लोगों की शैक्षणिक योग्यता के अनुसार स्किल डेवलपमेंट कोर्स चलाएंगे। साथ ही उन प्रभावित परिवारों को नोएडा, ग्रेनो, यमुना प्राधिकरण में फ्लैट खरीदने पर 20 प्रतिशत छूट दिलाएंगे।
 

टाउनशिप बनाने की भी है योजना

एयरपोर्ट से प्रभावित परिवारों के लिए क्रेडाई ने टाउनशिप बनाने की योजना का प्रस्ताव भी जिला प्रशासन के सामने रखा है। क्रेडाई के पश्चिमी उत्तर प्रदेश सब सेंटर के उपाध्यक्ष अमित मोदी ने बताया कि उनके संगठन ने प्रस्ताव दिया है कि यदि यमुना अथॉरिटी उन्हें कम दाम या मुफ्त में जमीन उपलब्ध कराए तो वह नो प्रोफिट टाउनशिप का निर्माण करेंगे। टाउनशिप में जेवर एयरपोर्ट से प्रभावित लोगों को बसाया जाएगा।

साथ ही किफायती दरों पर उन्हें स्वास्थ्य, शिक्षा आदि उपलब्ध कराने के लिए प्रयास किए जाएंगे। टाउनशिप में क्रेडाई को प्राप्त जमीन के हिसाब से बिना किसी मुनाफा कमाए अधिक से अधिक सुविधाएं दी जाएंगी। यदि जमीन अधिक हुई तो अस्पताल, स्कूल आदि सुविधाएं भी उसी टाउनशिप के अंदर बनाई जाएंगी।

आईआईए, एनईए ने दिया रोजगार का आश्वासन
एनईए (नोएडा एंटरप्रेन्योर्स एसोसिएशन ) एवं आईआईए (इंडियन इंडस्ट्री एसोसिएशन) द्वारा भी एयरपोर्ट बनने के लिए हर संभव मदद का आश्वासन जिला प्रशासन को दिया। एनईए अध्यक्ष विपिन मल्हन ने जेवर में प्रभावित परिवारों को योग्यतानुसार रोजगार दिलाने में मदद की बात कही। आईआईए ग्रेनो चैप्टर के चेयरमैन एसपी शर्मा ने भी कहा कि जेवर के विस्थापित युवकों में से कम से कम 100 को रोजगार दिलाया जाएगा। यदि जेवर से विस्थापित परिवारों के सदस्य अपना कोई रोजगार लगाना चाहेंगे तो उनकी भी पूरी मदद की जाएगी। 

आईएमए भी देगा सहूलियत

आईएमए( इंडियन मेडिकल एसोसिएशन) के नोएडा पदाधिकारियों ने भी इस मुद्दे पर पूर्ण सहयोग देने की बात कही। आईएमए द्वारा जेवर एयरपोर्ट से प्रभावित परिवारों के सदस्यों को जिले में चिकित्सीय सुविधाओं में लाभ दिए जाने का आश्वासन दिया गया। इन परिवारों के सदस्यों का एक कार्ड बनाया जाएगा। जिसके जरिये आईएमए डॉक्टरों द्वारा इलाज के दौरान उन्हे 30 प्रतिशत छूट दी जाएगी। 

एयरपोर्ट की संभावना खत्म तो कोई नहीं पूछेगा
एयरपोर्ट बनने को लेकर आ रही परेशानियों को दूर करने के लिए जिलाधिकारी द्वारा गांवों के काश्तकारों के साथ सीधी वार्ता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम के दौरान जिलाधिकारी के निर्देश पर कार्यक्रम की वीडियो रिकार्डिंग भी की गई। यूं तो इस सीधी वार्ता का आयोजन किसानों को मनाने के लिए किया गया था लेकिन वार्ता के बाद जिलाधिकारी के बयानों एवं हावभाव को लेकर कुछ किसान आपत्ति जता रहे हैं।

किसानों के अनुसार, जिलाधिकारी का लहजा समझाने वाला नहीं धमकाने वाला लग रहा है। वीडियो में जिलाधिकारी किसानों से कह रहे हैं कि जेवर एयरपोर्ट और अथॉरिटी के कारण उनकी जमीन के दाम बढे़ हैं। एयरपोर्ट नहीं बना तो जमीन बेचने के लिए घूमोगे, कोई खरीदार नहीं मिलेगा। इस बात को ध्यान में रखिये, गांठ बांध लीजिए। वीडियो में एक जगह जिलाधिकारी कहते हैं, कह दीजिएगा (अन्य लोगों से) कलेक्टर कह रहा था, एयरपोर्ट की संभावना खत्म तो कोई पूछने वाला नहीं मिलेगा। सीधे शब्दों में बातचीत हो रही है, भुलावे में मत रहिएगा।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close