Main Slideदिल्ली एनसीआरप्रदेश

नोएडा: करोड़ों की ठगी मामले में शुभकामना बिल्डर का निदेशक गिरफ्तार

नोएडा सेक्टर-137 में आवासीय प्रोजेक्ट के नाम पर करोड़ों की ठगी के आरोपी कंपनी निदेशक दिवाकर शर्मा को अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है। आरोपी ने फ्लैट बुक करते समय खरीदारों को झांसा दिया था कि निर्माण कार्य शुरू होने के 36 महीने के भीतर फ्लैटों का कब्जा दे देगा।

Loading...

लेकिन ग्राहकों से 90 फीसदी पैसा लेने के बाद उसने निर्माण कार्य बंद कर रुपये निजी काम में निवेश कर दिया। 6 सितंबर को गिरफ्तार करने के बाद पुलिस आरोपी से पूछताछ कर रही है।

आर्थिक अपराध शाखा के पुलिस उपायुक्त ने बताया कि 20 अप्रैल, 2017 को नोएडा स्थित आवासीय प्रोजेक्ट, शुभकामना-एडवर्ट-टेकहोम्स में फ्लैट खरीदने वाले 49 लोगों ने ठगी की शिकायत दी थी। ग्राहकों ने बिल्डर पर भरोसा जताकर 90 फीसदी पैसा चुका दिया। इधर, बिल्डर ने एक फरवरी 2011 को प्रोजेक्ट पर काम शुरू तो किया, लेकिन कुछ दिन बाद काम रोक दिया। ग्राहकों के बार-बार अनुरोध करने पर भी आरोपी ने निर्माण कार्य शुरू नहीं किया। इसके बाद उन्होंने शिकायत दी।

‘शुभकामना बिल्डर ने निवेशकों को खूूब लूटा था’

दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा के हत्थे शुभकामना बिल्डर दिवाकर शर्मा आखिकर चढ़ ही गया। दिवाकर पर निवेशकों का पैसा लेकर ठगने का आरोप है। नेफोमा अध्यक्ष अन्नू खान ने बताया कि दिवाकर शुरू में बिल्डरों के होर्डिंग लगाने का काम करता था। बाद में उसने एक पार्टनर को पकड़ा और नोएडा व ग्रेटर नोएडा में प्रोजेक्ट के लिए प्लॉट ले लिए। अनुभव न होने के कारण थोड़े ही दिन में पार्टनर के साथ झगड़ा हो गया और प्रोजेक्ट आपस में बांट लिए गए।

पार्टनर ने भी निवेशकों को धोखा दिया जो पैसा मिला था, उसे अपनी पत्नी के नाम कर दिया। साथ ही, कानूनी पचड़ों से बचने के लिए पत्नी से तलाक भी ले लिया। इसके बाद दोनों गायब हो गए। दिवाकर ने भी निवेशकों को खूब लूटा, लेकिन अब पुलिस के शिकंजे में आ गया है। जरूरी है कि उसने जो पैसे छिपाया है, वह बरामद हो जाए और जिन लोगों ने फ्लैट बुक कराए थे, उनको पैसे वापस मिलें या फिर फ्लैट दिए जाएं

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close