LIVE TVMain Slideउत्तर प्रदेशदेश

मुख्यमंत्री ने जनपद बदायूं में लगभग 1328 करोड़ रु0 की लागत की 359 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

मुख्यमंत्री ने जनपद बदायूं में लगभग 1328 करोड़ रु0 की लागत की 359 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

Loading...

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद बदायूं में लगभग 1328 करोड़ रुपये की कुल लागत की 359 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों को आवास की चाभी, चेक, स्वीकृति पत्र/प्रमाण पत्र, नियुक्ति पत्र एवं प्रोत्साहन सामग्री वितरित की।
इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद बदायूं में 700 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित विद्युत सबस्टेशन का लोकार्पण किया गया है। इस विद्युत सबस्टेशन के माध्यम से जनपद में विद्युत की अनवरत आपूर्ति की जा सकेगी। प्रदेश सरकार की मंशा है कि शिलान्यास की गई विकास परियोजनाएं गुणवत्ता के मानक को बनाये रखते हुए समयबद्ध ढंग से पूरी हों।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के लिए देश की 130 करोड़ जनता ही उनका परिवार है। वर्तमान प्रदेश सरकार के लिए भी राज्य की 25 करोड़ की आबादी ही परिवार है। इस 25 करोड़ की आबादी की सेवा हेतु शासन की योजना को उन तक पहंुचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि जनपद अयोध्या प्रदेश की एक सांस्कृतिक पहचान है। दीपोत्सव के माध्यम से अयोध्या ने देश व दुनिया को अपनी ओर आकर्षित किया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में विकास का माहौल है। भौतिक विकास का माध्यम ही प्रदेश के आमजनमानस के जीवन में परिवर्तन का कारक बनेगा। वर्तमान सरकार ने प्रत्येक नागरिक के जीवन में परिवर्तन लाने तथा विकास कार्याें को आगे बढ़ाने का कार्य किया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2017 से पूर्व लोक कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के सर्वे में उत्तर प्रदेश काफी पीछे रहता था। जनप्रतिनिधियों के प्रयास एवं प्रशासनिक मशीनरी के द्वारा तीव्र क्रियान्वयन से उत्तर प्रदेश लोक कल्याणकारी एवं विकासात्मक योजनाओं के सर्वे में नम्बर-1 या नम्बर-2 पर आता है। यह सर्वे उत्तर प्रदेश की बदली हुई तस्वीर को प्रस्तुत कर रहे हैं। यह बदली हुई तस्वीर प्रधानमंत्री जी की प्रदेश को अग्रणी राज्यों में खड़ा करने की अपेक्षाओं एवं सपनों को पूरा कर रही है, जिसे वर्तमान सरकार ने साढ़े चार वर्ष के अन्दर पूरा करके दिखाया है। यही कारण है कि प्रदेश सरकार द्वारा विकास की जिन परियोजनाओं का शिलान्यास किया जाता है, स्वयं प्रदेश सरकार एवं उसके जनप्रतिनिधि उसका लोकार्पण करते हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश में कानून-व्यवस्था का राज है। प्रदेश में दीपावली सहित अन्य सभी पर्व व त्योहार शांतिपूर्वक, सकुशल सम्पन्न हो रहे हैं। प्रदेश में बड़े-बड़े आयोजन सम्पन्न हो रहे हैं। अपराध एवं अपराधियों के प्रति प्रदेश सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति है। आज इसी का परिणाम है कि प्रदेश दंगा व अपराधमुक्त बन गया है। वर्तमान सरकार द्वारा माफियाओं व अपराधियों के प्रति सख्त रवैया अख्तियार करना देश के लिए एक नजीर है। माफियाओं एवं अपराधियों की 1,800 करोड़ रुपये से अधिक की सम्पत्ति जब्त की गयी है। साथ ही, अवैध सम्पत्तियों को राज्य सरकार द्वारा ध्वस्त भी किया गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रत्येक सरकार की एक अपनी सोच होती है। वर्तमान सरकार ने सर्वप्रथम मिशन शक्ति अभियान को बल देने हेतु एण्टी रोमियो स्क्वाएड का गठन किया। प्रदेश में डेढ़ लाख पुलिस भर्ती की गयी। इसमें 20 प्रतिशत महिलाओं की भर्ती की गयी है। प्रत्येक जनपद में पर्याप्त मात्रा में महिला आरक्षी मौजूद हैं, जो बेहतर सुरक्षा का वातावरण बनाने में अपना योगदान दे रही हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि जनपद बदायूं कभी वेदामऊ तथा वेदों के अध्ययन के केन्द्र के रूप मंे जाना जाता था। महाराज भगीरथ ने भी यहां तपस्या की थी, जिनके प्रयास से माँ गंगा का धरती पर अवतरण हुआ। माँ गंगा हजारों वर्षाें से मानव जीवन का उद्धार करते हुए दुनिया की सबसे उर्वरा भूमि हमें प्रदान करती हैं। उन्होंने कहा कि आजादी के बाद सरकारों ने यदि किसानों के हितों में काम किया होता, तो उत्तर प्रदेश का किसान अकेले ही देश का पेट भरने की सामर्थ्य रखता है। प्रदेश सरकार द्वारा 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रुपये का फसली ऋण माफ किया गया। प्रधानमंत्री जी ने वर्ष 2014 में स्वॉयल हेल्थ कार्ड, फसल बीमा योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना लागू की। वर्ष 2019 में उन्होंने देश के अन्नदाता किसान को प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना से अच्छादित किया। इस योजना से देश के 12 करोड़ किसान लाभान्वित हो रहे हैं। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के माध्यम से प्रदेश के 02 करोड़ 45 लाख किसान लाभान्वित हो रहे हैं। इस योजना के तहत प्रत्येक किसान के खाते में 06 हजार रुपये वार्षिक अन्तरित किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि कोरोना कालखण्ड के दौरान देश व प्रदेश में केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत वर्ष 2020 में 07 महीने निःशुल्क खाद्यान्न प्रदान किया गया। इसी प्रकार वर्ष 2021 मंे केन्द्र सरकार द्वारा होली से दीपावली तक निःशुल्क खाद्यान्न वितरित किया गया। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के तहत राज्य सरकार द्वारा भी दीपावली से होली, 2022 तक निःशुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा। इसके तहत अन्त्योदय कार्डधारकों को निःशुल्क 35 किलो खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा, जिसमें गेहूं, चावल के साथ-साथ 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल, 01 किलो चीनी तथा 01 किलो नमक प्रदान किया जाएगा। पात्र गृहस्थी कार्डधारकांे को प्रति यूनिट 05 किलो निःशुल्क खाद्यान्न के साथ 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल तथा 01 किलो नमक भी प्रदान किया जाएगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा साढ़े पांच लाख किसानों को अतिवृष्टि से खराब फसल का मुआवजा प्रदान किया जा रहा है। शेष बचे किसानों को भी शीघ्र मुआवजा प्रदान कर दिया जाएगा। आपदा से हुई जनहानि में प्रभावितों को 24 घण्टे में शासन व प्रशासन द्वारा जनप्रतिनिधियों के माध्यम से सहायता राशि उपलब्ध करायी जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अवैध बूचड़खानों के संचालन को पूरी तरह बन्द किया गया है। निराश्रित गोवंश के संरक्षण के लिए गोआश्रय स्थल बनाये गये हैं। निराश्रित गोवंश को अपने घर मंे रखकर पालन-पोषण करने वाले किसान एवं कुपोषित परिवारों को राज्य सरकार की ओर से प्रति गोवंश 900 रुपये प्रतिमाह प्रदान किया जा रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा निष्पक्ष एवं पारदर्शी तरीके से सरकारी नौकरियों में चयन किया जा रहा है। साढ़े चार वर्षाें में साढ़े चार लाख नौजवानों को सरकारी सेवाओं में नियुक्ति प्रदान की गयी है। प्रदेश का नौजवान संविधान के अन्तर्गत आरक्षण के नियमों के तहत मेरिट के आधार पर नौकरी प्राप्त कर रहा है, जो वर्तमान सरकार की एक उपलब्धि है। निजी निवेश के माध्यम से भी प्रदेश में रोजगार के अवसरों मंे वृद्धि की गयी है। निजी क्षेत्र में 01 करोड़ 61 लाख युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया गया है। 60 लाख से अधिक लोगों को एक जनपद एक उत्पाद योजना, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के माध्यम से स्वरोजगार से जोड़ा गया है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्तमान में देश व दुनिया वैश्विक महामारी कोरोना से प्रभावित है। प्रधानमंत्री जी के मंत्र का पालन करते हुए कोरोना कालखण्ड में प्रदेश सरकार ने जीवन और जीविका को बचाने का कार्य किया है। इस दौरान जनप्रतिनिधिगण, जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग की टीम ने मिलकर अभूतपूर्व कार्य किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में स्वच्छ भारत मिशन के तहत 02 करोड़ 61 लाख परिवारों को शौचालय प्रदान किये गये हैं। ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्र के 43 लाख गरीब परिवारों को आवास उपलब्ध कराए गये हैं। 01 करोड़ 45 लाख परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन उपलब्ध कराए गये हैं।
इस अवसर पर केन्द्रीय सहकारिता राज्यमंत्री श्री बी0एल0 वर्मा, खादी ग्रामोद्योग राज्यमंत्री श्री चौधरी उदयभान सिंह, नगर विकास राज्यमंत्री श्री महेश चन्द्र गुप्ता, राजस्व राज्यमंत्री श्री छत्रपाल सिंह गंगवार सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने जनपद शाहजहांपुर में 484 करोड़ रु0 से अधिक की 232 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने आज जनपद शाहजहांपुर में 484 करोड़ रुपये से अधिक लागत की 232 परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। इसमें काकोरी शहीद इण्टर कॉलेज, जलालाबाद में 259 करोड़ रुपये से अधिक की 131 विकास परियोजनाओं तथा रामलीला मैदान, शाहजहांपुर में 225 करोड़ रुपये से अधिक की 101 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास शामिल है।
मुख्यमंत्री जी ने जनसभाओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि जब सरकार की सोच लोक कल्याणकारी कार्य करने की होती है तो लोगों का विकास होता है। प्रदेश सरकार प्रदेशवासियों की सुरक्षा व समृद्धि के लिए हर स्तर पर पूरी ईमानदारी के साथ कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व एवं मार्गदर्शन में नये भारत का नया उत्तर प्रदेश निरन्तर विकास पथ पर अग्रसर है। उत्तर प्रदेश आज देश के प्रगतिशील राज्यों में अग्रणी भूमिका निभा रहा है। प्रदेश सरकार बिना भेदभाव के गांव, गरीब, किसान, मजदूर, नौजवान, महिला के विकास के लिए निरन्तर तत्पर है। राज्य सरकार की ईमानदार सोच व दमदार काम को प्रदेश की जनता का आशीर्वाद लगातार मिला है और आगे भी मिलता रहेगा।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि विकासप्रिय जनप्रतिनिधियों के कारण जनपद शाहजहांपुर विकास की प्रक्रिया में तेजी के साथ आगे बढ़ रहा है। गंगा एक्सप्रेस-वे जनपद शाहजहांपुर से होकर निकल रहा है, जिससे यहां के औद्योगिक विकास को और गति मिलेगी। जनपद शाहजहांपुर में मेडिकल कॉलेज बनकर तैयार हो गया है। इस मेडिकल कॉलेज से न केवल स्वास्थ्य की बेहतर सेवाएं मिलेंगी, बल्कि शाहजहांपुर व इसके आसपास के नौजवानों को मेडिकल की पढ़ाई के लिए भी सुविधा प्राप्त होगी। उन्होंने कहा कि आज लोकार्पित तथा शिलान्यास की गयी विकास परियोजनाएं लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाएंगी।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि गंगा व रामगंगा के मध्य बसा शाहजहांपुर भगवान परशुराम की तपोस्थली है। यहां के पटना देवकली शिव मंदिर में पर्यटन विकास के कार्यों को बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने शाहजहांपुर के राष्ट्र नायकों पं0 राम प्रसाद बिस्मिल, ठा0 रोशन सिंह, अशफाक उल्ला खां तथा जनपद के परमवीर चक्र विजेता शहीद नायक जदुनाथ सिंह को विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि आज प्रदेश में पर्व एवं त्यौहार शांतिपूर्ण एवं सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाए जा रहे हैं। राज्य सरकार के नेतृत्व में मजबूत कानून व्यवस्था के कारण साढ़े चार वर्षों में प्रदेश में कोई भी दंगा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में प्रयागराज कुम्भ, लोकसभा चुनाव, पंचायत चुनाव जैसे बड़े-बड़े कार्य शांतिपूर्ण ढंग से सबके सहयोग से सम्पन्न हुए हैं। अपराध एवं अपराधियों के प्रति प्रदेश सरकार की जीरो टॉलरेंस की नीति है। माफियाओं एवं अपराधियों की 1800 करोड़ रुपये से अधिक की अवैध सम्पत्तियों को जब्त करने की कार्यवाही की जा चुकी है। आज प्रदेश के सभी क्षेत्रों में अनवरत विकास हो रहा है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार ने अपने कार्यकाल के शुरुआत में ही सर्वप्रथम बहन-बेटियों की सुरक्षा के लिए एण्टी रोमियो स्क्वॉयड का गठन किया। प्रदेश में मिशन शक्ति के तृतीय चरण को आगे बढ़ाया जा रहा है। मिशन शक्ति के माध्यम से महिलाओं तथा बालिकाओं की सुरक्षा, सम्मान व स्वावलम्बन के लिए कार्य किए जा रहे हैं। प्रदेश के 86 लाख लघु एवं सीमान्त किसानों का 36 हजार करोड़ रुपये का फसली ऋण माफ किया गया है। आज प्रदेश में अवैध बूचड़खाने बंद हैं। निराश्रित गोवंश के लिए गौआश्रय स्थलों का निर्माण किया जा चुका है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी व प्रदेश सरकार के लिए पूरा देश व प्रदेश एक परिवार है। सभी के उत्थान, विकास व खुशहाली के लिए पूरी संवेदना के साथ लगातार कार्य किए जा रहे हैं। प्रदेश के आपदा प्रभावित किसानों को तत्काल मुआवजा प्रदान किया जा रहा है। प्रदेश में वर्ष 2017 के बाद किसानों से सीधे उनकी उपज की खरीद की जा रही है। बिचौलियों के लिए कोई स्थान नहीं है। उन्होंने कहा कि विगत वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष अधिक संख्या में धान क्रय केन्द्रों को संचालित करने के निर्देश दिए गए हैं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा निष्पक्ष एवं पारदर्शी प्रक्रिया से योग्यता के आधार पर साढ़े चार वर्षों में साढ़े चार लाख नौजवानों को सरकारी नौकरी प्रदान की गयी है। निजी निवेश के माध्यम से प्रदेश में रोजगार के अवसरों में वृद्धि की गयी। 01 करोड़ 61 लाख युवाओं को निजी क्षेत्र में रोजगार उपलब्ध कराया गया है। 60 लाख से अधिक लोगों को एक जनपद-एक उत्पाद, विश्वकर्मा श्रम सम्मान योजना इत्यादि के माध्यम से स्वरोजगार से जोड़ा गया है। पुलिस भर्ती में 20 प्रतिशत स्थान महिला आरक्षियों के लिए रखे गए हैं। आज यह महिला आरक्षी प्रदेश के सभी जिलों में महिला सुरक्षा एवं सम्मान के लिए तत्पर हैं। प्रदेश के सभी क्षेत्रों को निर्बाध रूप से बिजली प्रदान की जा रही है।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में आज उत्तर प्रदेश केन्द्र सरकार की विभिन्न विकास योजनाओं में अग्रणी स्थान पर है। प्रधानमंत्री आवास योजना, स्वच्छ भारत मिशन के तहत निर्मित शौचालयों, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना जैसी विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र व्यक्तियों को प्रदान करने में प्रदेश प्रथम स्थान पर है। उन्होंने प्रधानमंत्री जी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए कहा कि कोरोना कालखण्ड में देश एवं प्रदेश के सभी लोगों को प्रधानमंत्री जी ने निःशुल्क कोविड जांच एवं कोरोना वैक्सीन उपलब्ध करायी। उत्तर प्रदेश में साढ़े तेरह करोड़ से अधिक लोगों का टीकाकरण सम्पन्न हो चुका है। उन्होंने लोगों को कोरोना वैक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित भी किया।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि वर्ष 2020 में 07 माह तथा वर्ष 2021 में 08 माह तक सभी जरूरतमंदों के लिए निःशुल्क खाद्यान्न की व्यवस्था की गयी। प्रदेश सरकार ने लोकहित में दीपावली से होली-2022 तक पात्र व्यक्तियों को निःशुल्क खाद्यान्न उपलब्ध कराने का निर्णय लिया है। इसके तहत अन्त्योदय कार्डधारकों को निःशुल्क 35 किलो खाद्यान्न का वितरण किया जाएगा, जिसमें गेहूं, चावल के साथ-साथ 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल, 01 किलो चीनी तथा 01 किलो नमक प्रदान किया जाएगा। पात्र गृहस्थी को प्रति यूनिट 05 किलो निःशुल्क खाद्यान्न के साथ 01 किलो दाल, 01 लीटर खाद्य तेल तथा 01 किलो नमक भी प्रदान किया जाएगा।
मुख्यमंत्री जी ने जनपद भ्रमण के अवसर पर स्व0 सेठ श्री विशन चन्द्र जी की मूर्ति का अनावरण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि स्व0 सेठ श्री विशन चन्द्र जी भारतीय संस्कृति एवं राष्ट्रवादी सोच के पुरोधा थे। उन्होंने स्व0 श्री विशन चन्द्र जी को विनम्र श्रद्धांजलि देने के साथ ही, अपनी गुरु परम्परा को याद करते हुए कहा कि यह केवल प्रतिमा अनावरण का कार्यक्रम नहीं है, बल्कि मैं उस पीढ़ी से जुड़ रहा हूं, जिस पीढ़ी की प्रेरणा से आज मैं सार्वजनिक जीवन में जनता-जनार्दन की सेवा कर पा रहा हूं।
मुख्यमंत्री जी ने कहा कि प्रधानमंत्री जी के मार्गदर्शन में अयोध्या का विकास एवं भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण कार्य प्रगति पर है। स्व0 सेठ श्री विशन चन्द्र जी मंदिर निर्माण के आदि शिल्पी थे तथा आजीवन समाज सेवा के लिए तत्पर रहे। स्व0 सेठ जी ने बिना डिगे, बिना झुके न केवल व्यवसाय की श्रेष्ठता साबित की, बल्कि मूल्यों, आदर्शों व भारतीयता को सुदृढ़ करने के लिए संघर्ष भी किया। उन्होंने कहा कि शाहजहांपुर की धरती राष्ट्रवादी विचारधारा की पोषक रही है।
इससे पूर्व, मुख्यमंत्री जी ने विभिन्न विकास योजनाओं के लाभार्थियों को आवास की चाभी, प्रमाण पत्र, नियुक्ति पत्र, चेक, प्रोत्साहन सामग्री भी वितरित की।
इन अवसरों पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री सुरेश कुमार खन्ना, प्राविधिक शिक्षा मंत्री श्री जितिन प्रसाद, खादी एवं ग्रामोद्योग राज्य मंत्री श्री चौधरी उदयभान सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण तथा शासन-प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV