जम्मू कश्मीर

खरना आज, भगवान सूर्य को साक्षी मान 36 घंटे का निर्जला व्रत रखेंगी महिलाएं

चार दिवसीय छठ महापर्व के दूसरे दिन खरना पर व्रती परिजनों सहित कुल देवता का पूजन कर व्रत का संकल्प लेंगी। सुबह स्नान के बाद व्रतियों ने छठ मईया की पूजा अर्चना की। शाम को चूल्हे में आम की लकडिय़ां जलकार उस पर गुड़ की खीर और पूरी बनाई जाएगी। छठ व्रत रखने वाली महिलाओं के साथ परिवार के सभी सदस्य भी कुल देवता की विधिवत पूजा अर्चना कर व्रत को सफल बनाने और सुख-समृद्धि की कामना करेंगे। इसके बाद प्रसाद ग्रहण किया जाएगा। चंद्रास्त के साथ ही व्रती भगवान सूर्य को हाजिर रखकर 36 घंटे का निराहार व्रत शुरू करेगा।

Loading...

वहीं कल मंगलवार को शहर के विभिन्न घाटों पर आयोजित होने वाली मुख्य पूजा को लेकर सोमवार सुबह से ही बाजार में खरीदारी के लिए व्रतियों की भीड़ भी लगना शुरू हो गई। शाम डूबते सूरज और बुधवार सुबह उदयमान सूर्य को अ‌घ्र्य देकर प्रसाद ग्रहण कर व्रत संपन्न करेंगे। व्रत की खरीदारी में व्यस्त सविता और सुकन्या ने बताया कि छठ पूजा के लिए न तो कोई विशेष मुहूर्त है और न ही कोई विशेष मंत्र। यह पूजा सिर्फ नियम की है। परंतु इसके नियम में भी घर और घाट की सफाई प्राथमिकता में रहती है। मुहूर्त के नाम पर सिर्फ छठ वाले दिन शाम को सूर्य के अस्त होने का समय और सप्तमी को सूर्य उदय के समय की जानकारी होना आवश्यक है ताकि व्रती समय से घाट पर पहुंचकर सूर्य नारायण को अ‌घ्र्य दे सकें।

पूजा सामग्री की हुई जमकर खरीदारी

छठ महापर्व की तैयारियों को लेकर बाजारों में काफी रौनक है। त्रिकुटा नगर स्थित प्रवासी मार्केट में छठ पूजा की खरीदारी को लेकर लोगों की दिनभर भीड़ रही। पर्व के तीसरे दिन यानी मंगलवार को शहर की विभिन्न घाटों में होने वाली विशेष पूजा में इस्तेमाल होने वाली पूजा सामग्री और फल-सब्जियों की जमकर खरीदारी हुई। व्रती रमिया ने बताया कि पूजा में इस्तेमाल होने वाली सामग्री विशेष तौर पर बिहार से मंगवाई जाती है। पिछले साल के मुकाबले इस बार पूजा सामग्री के साथ-साथ फलों व सब्जियों के दामों में काफी बढ़ोतरी हुई है, परंतु यह ऐसा पर्व है जिसमें व्रती भगवान भास्कर को अपनी क्षमता अनुसार भेंट व चढ़ावा चढ़ा सकता है। कोई बाध्यता नहीं है।

यहां होगी छठ पूजा

शहर में छठ पूजा डिग्याना नहर, त्रिकुटा नगर नहर, छन्नी नहर, रणबीर नहर, तवी घाट आदि स्थानों पर होगी। बिहार छठ पूजा समिति के प्रधान राजू कुमार रजत ने बताया कि घाटों की साफ-सफाई पूरी कर ली गई है। यहा घाटों की सुरक्षा को लेकर पुलिस ने व्यापक इंतजाम किए हैं। डिग्याना घाट पर मंगलवार सुबह टेंट लगाने का काम शुरू किया जाएगा। विशेष रोशनी की व्यवस्था भी की जाएगी। पूर्व पीएचई मंत्री चौधरी शाम लाल भी पर्व में शिरकत करेंगे। 

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV