मध्य प्रदेश

बेचे गए तीन और बच्चों तक पहुंची पुलिस, तीन आरोपित गिरफ्तार

नि:संतान दंपती को बच्चे बेचने के मामले में पकड़ाए मास्टर माइंड शैलेंद्र (शैलू) राठौर की निशानदेही पर पुलिस की टीम लगातार छापेमार कार्रवाई कर रही है। पुलिस तीन और बच्चों तक पहुंची है, जिन्हें शैलू ने बेचा था। ये बच्चे नानपुर, बाग और बड़ोदरा से पुलिस को मिले हैं। तीनों बच्चों को पुलिस आलीराजपुर ले आई है। साथ ही मामले में तीन अन्य आरोपितों को भी पुलिस ने पकड़ा है। मामले में अभी और भी दोषी सामने आने की संभावना है।

Loading...

पुलिस के मुताबिक इस मामले में अब तक रविवार को मिले बच्चे सहित कुल चार बच्चे पुलिस वापस आलीराजपुर ला चुकी है। आरोपित शैलू राठौर ने बीते दो साल में छह बच्चे बेचना कबूला था। इसमें से चार बच्चों तक पुलिस पहुंच चुकी है। अभी भी दो बच्चों तक पुलिस को पहुंचना है।

नानपुर, बाग और बड़ोदरा से तीन बच्चे पुलिस आलीराजपुर लेकर आई है। लाए गए बच्चे आलीराजपुर जिला अस्पताल में है। पुलिस की टीम लगातार दबिश देकर बेचे गए बच्चों का पता लगाने में जुटी हुई है। बताया जा रहा है कि मामले में संलिप्तता को लेकर छोटा उदयपुर से जिस कारोबारी को पुलिस ने पकड़ा था, उसे लगातार पूछताछ की जा रही है।

सूत्रों के मुताबिक पुलिस को जानकारी मिली है कि आलीराजपुर में भी बच्चों के बेचा गया है। जानकारी जुटाने के साथ ही दोषियों की धरपकड़ में पुलिस लगी हुई है। हालांकि मामला सामने आने पर गिरफ्तारी के डर से कु छ लोग फरार भी हो गए हैं। आने वाले दिनों में मामले को लेकर और भी कई खुलासे होने की बात पुलिस अधिकारी कह रहे हैं।

लाए गए बच्चों को भेजा जाएगा इंदौर

पुलिस के मुताबिक जिन बेचे गए बच्चों को आलीराजपुर लाया गया है, उनके प्रकरण सुनवाई के लिए बाल कल्याण समिति के समक्ष रखे जाएंगे। इसके बाद बच्चों को इंदौर स्थित संजीवनी संस्था भेजा जाएगा, जो महिला एवं बाल विकास विभाग के तहत काम करती है।

इस दौरान यदि बच्चों के माता-पिता सामने आते हैं और वे उनका बच्चा होना का क्लेम करते हैं, तो वे फिर आगे की प्रक्रिया होगी। बच्चों को माता-पिता सामने नहीं आने की स्थिति में इन्हें गोद दिया जा सकता है। गोद लेने की लीगल प्रक्रिया पूरी कर दंपती बच्चों को गोद ले सकें गे।

ये था मामला

उल्लेखनीय है कि बीते रविवार को आलीराजपुर पुलिस ने स्टिंग ऑपरेशन कर कारोबारी शैलू राठौर को 18 माह का बच्चा बेेचते हुए पकड़ा था। शैलू के साथ तीन अन्य भी पकड़ाए थे। बीते दो साल में शैलू छह बच्चों को बेचने की बात कबूल चुका है और पुलिस सभी बच्चों को अब वापस लाने में जुटी है।

मामले में निजी अस्पताल और डॉक्टरों को ऑन पेपर तो नाम सामने नहीं आया है, लेकि न पुलिस इस दिशा में जांच पड़ताल में लगी हुई है। एसपी विपुल श्रीवास्तव के मार्गदर्शन और एएसपी सीमा अलावा के नेतृत्व में पूरे मामले की जांच चल रही है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV