उत्तर प्रदेशप्रदेश

इलाहाबाद: पुलिस के हत्थे चढ़े सगे भाई समेत तीन लुटेरे

गंगापार में दिनदहाड़े और सरेराह लूटपाट, छिनैती करने वाले दो सगे भाई समेत तीन युवक सोरांव पुलिस के हत्थे चढ़ गए। ईशांत यादव, प्रशांत यादव और सलमान को गोहरी रेलवे क्रासिंग के पास से गिरफ्तार किया गया। इनके पास चोरी की बाइक, असलहा व कारतूस बरामद हुई। थरवई के बनकेसरी का ननका पासी पुत्र हीरामणि फरार है। उसकी तलाश चल रही है। प्रशांत का सीआरपीएफ में दारोगा पद पर सेलेक्शन भी हो चुका है।

Loading...

शनिवार शाम अभियुक्तों को पुलिस लाइन सभागार में मीडिया के सामने पेश किया गया। एसपी गंगापार ने बताया कि थरवई के कुरगांव निवासी मो. हामिद का बेटा सलमान शातिर लुटेरा है। वह पहले भी लूट के मामले में जेल जा चुका है। वह अपने साथ सोरांव के बलिकरनपुर गांव के अशोक यादव का बेटा ईशांत उर्फ अर्पित व प्रशांत को लेकर लूटपाट करता था। 20 अगस्त 2017 को रक्षाबंधन के दिन उतरांव इलाके में भदोही की एक महिला आरोपितों ने दिनदहाड़े लूट की। ग्रामीणों ने दौड़ा लिया तो बाइक छोड़कर भाग निकले थे। इसके बाद आठ मई को बीबीएस इंटर कॉलेज के पास नीता यादव पत्‍‌नी राजधानी निवासी रंगपूरा के साथ लूट किए। उसके कुछ दिन बाद फाफामऊ स्थित हर्ष गार्डन के पास भी लूट को कारित किए। सीसीटीवी में बाइक का नंबर दिखा तो मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश शुरू की गई। इसी दौरान लुटेरों को भनक लग गई तो उसका नंबर बदलकर वारदात करने लगे। छानबीन के दौरान ही सही जानकारी मिली तो चौकी इंचार्ज फाफामऊ संतोष सिंह, एसआइ प्रेम कुमार, सिपाही सूबेदार, अशोक यादव और नारायण ने घेरेबंदी कर तीनों को दबोच लिया। जबकि अभियुक्तों ने कई घटनाओं को अंजाम देने की बात कबूल की है।

25 हजार का इनामी लुटेरा भी गिरफ्तार

क्राइम ब्रांच और धूमनगंज पुलिस ने भी 25 हजार के इनामी शातिर लुटेरे साहिबा उर्फ मो. इसराइल पुत्र इसरार निवासी मलावा खुर्द झूंसी को गिरफ्तार कर लिया, लेकिन उसका साथी गयासुद्दीनपुर का वसीम फरार हो गया। एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने बताया कि साहिबा कई माह से फरार चल रहा था और उस पर हत्या के प्रयास समेत कुल आठ मुकदमे दर्ज हैं। साहिबा ने 19 मई 2017 को साथी रत्‍‌नेश, शेरू, हासिम, तौसीफ, नियाज के साथ आइटीबीपी गेट के पास महिला की चेन लूटी थी। 22 दिसंबर 2017 को बघेल कोचिंग के सामने साथी जुनैद के साथ लूट किया था। मरियाडीह गांव के पास से साहिबा को चोरी की बाइक के साथ इंस्पेक्टर राजेश वर्मा, टीपी नगर चौकी प्रभारी शत्रुघ्न मिश्र, एसएसआइ शैलेष सिंह व स्वाट प्रभारी राकेश कुमार, अवधेंद्र तिवारी की टीम ने पकड़ लिया। एसपी सिटी के मुताबिक, 20 मार्च 2018 को गयासुद्दीनपुर में मो. वसीम, इमरान मुर्गी के साथ मारपीट व फाय¨रग की थी। उसके आठ दिन बाद फिर रईस के ही घर में घुसकर गोली चलाते हुए धमकी दी थी। कुछ दिनों बाद जुनैद को पुलिस ने पकड़ लिया था, लेकिन साहिबा फरार था। इंटर के छात्र निकले वाहन चोर, आठ गाड़ियां बरामद

-शाहखर्ची के लिए उड़ाने लगे बाइकें, सरगना अस्पताल में

-मुट्ठीगंज पुलिस ने वाहन चोरों का गिरोह पकड़ा

जागरण संवाददाता, इलाहाबाद : मुट्ठीगंज पुलिस ने वाहन चोरों के गिरोह का पर्दाफाश करते हुए चोरी की आठ गाड़ियां बरामद की हैं। वाहन चोरी इंटर के छात्र करते थे। इंटर पास करने के बाद दोनों छात्र शाहखर्ची की वजह से वाहन चोरी कर बेचने लगे। एक के पिता नेवादा में शिक्षक हैं। पकड़े गए शातिर चोरी की अपाचे 10 हजार में जबकि दूसरी बाइक सात हजार में बेचते थे। शातिरों ने शहर से दर्जनों गाड़ियां उड़ाई हैं।

एसपी सिटी बृजेश श्रीवास्तव ने शनिवार को पकड़े गए गिरोह के सदस्यों को मीडिया के सामने पेश किया। बताया कि शहर में वाहन चोरी की बढ़ती घटनाओं को देखते हुए सीओ बैरहना सुर्कीति माधव और इंस्पेक्टर मुट्ठीगंज निशिकांत राय ने सुराग जुटाया। सटीक लोकेशन मिलने पर मो. नासिर पुत्र हाशिम निवासी महेवा पट्टी नैनी, पीयूष सिंह पुत्र शेष कुमार निवासी काजीपुर नैनी और अतुल गौड़ पुत्र रामजी गौड़ निवासी खरकौनी नैनी को गिरफ्तार कर लिया। पीयूष और अतुल छात्र हैं। शाहखर्ची की वजह से दोनों वाहन चोरी में उतर आए। सीओ सुर्कीति माधव के मुताबिक, गिरोह का सरगना इन दिनों बीमार है और अस्पताल में भर्ती है। उसकी निगरानी की जा रही है। यह गिरोह नई बाइकों पर हाथ साफ करता था।

Loading...
loading...

Related Articles

Live TV
Close