देश

सीतापुर में जिंदा जलाई गई किशोरी की गुरुवार देर रात लखनऊ के सीविल अस्पताल मौत हो गई।

सीतापुर में छेड़छाड़ का विरोध करने पर जिंदा जलाई गई किशोरी की गुरुवार देर रात लखनऊ के सीविल अस्पताल मौत हो गई। किशोरी को गंभीर हालत में सीतापुर से लखनऊ इजाल के लिए लाया गया था। गुरुवार को इस घटना का संज्ञान लेते हुए सीएम ने एडीजी राजीव कृष्ण को लखनऊ के  सिविल अस्पताल  में भर्ती पीड़िता से मिलने भेजा था। लड़की के परिवार वालों ने एडीजी से कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है

Loading...

 

पीड़िता की मां ने एडीजी से कहा कि आरोपी को कड़ी सजा दिलवाई जाएं। पीडिता की माँ ने  सीतापुर पुलिस पर टालमटोल का आरोप भी लगाया है । उन्होंने बताया कि जब घटना की रिपोर्ट लिखाने सीतापुर कोतवाली गए  तो वहां पुलिस ने रिपोर्ट नहीं लिखी। अगर पुलिस समय पर कार्रवाई कर लेती तो मेरी बेटी की ऐसी  हालत नहीं होती।

सीतापुर में शहर कोतवाली इलाके में रहने वाली किशोरी के साथ मंगलवार को पड़ोस में रहने वाले गोलू नाम के युवक ने दुष्कर्म करने का प्रयास किया था। असफल होने  पर आरोपी ने उसे जान से मारने की धमकी दी थी।

बुधवार की शाम किशोरी घर में छोटे भाई के साथ मौजूद थी। दबंग युवक  केरोसिन का तेल लेकर घर में दाखिल हुआ और युवती पर छिड़ककर आग लगा दी। चीख पुकार सुनकर पहुंचे पड़ोसियों ने आग पर काबू पा कर  पुलिस को फोन किया । उसे उपचार के लिए जिला चिकित्सालय ले जाया गया। पीड़िता का आरोप है  कि गोलू पिछले कई दिनों से उस पर शादी करने का दबाव बना रहा था। मना करने पर मंगलवार दोपहर उसने युवती के साथ दुष्कर्म करने का प्रयास भी किया।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV