Main Slideदिल्ली एनसीआरबड़ी खबर

दिल्ली की हवा हुई ख़तरनाक,अगले हफ्ते धुंए का हमला,सैटेलाइट से हुआ खुलासा

दिल्लीवालों के लिए करीब ढ़ाई महीने से साफ हवा में सांस लेना काफी खतरना हो रहा है।खेतों में पराली जलाने के चलते पंजाब और हरियाणा में अगले सप्ताह से दिल्ली की हवा में प्रदूषण बढ़ने की आशंका जताई जा रही है।

Loading...

बीते 48 घंटों में केंद्र द्वारा संचालित संस्था सफर ने उपग्रह से प्राप्त डाटा के विश्लेषण के आधार पर पराली जलाने की घटनाओं में तेजी आने की बात कही है।दिल्लीवालों के लिए इस बार का मानसून सीजन भले ही कम बारिश वाला रहा हो,लेकिन हवा के मामले में यह किसी बड़ी सौगात से कम नहीं रहा।

दिल्ली के लोगों को बीते ढाई महीने तक लगातार अच्छी हवा में सांस लेने को मिला।इस दौरान वायु गुणवत्ता सूचकांक लगातार संतोषजनक श्रेणी में बना रहा।पूर्व दिशा से आने वाली नमी भरी हवाओं और बूंदाबांदी के चलते हवा में धूल कण टिक नहीं पाए।सफर के मुताबिक हवा की दिशा अब उत्तर पश्चिम और पश्चिम दिशा से होने लगी है।अगले दो-तीन दिनों में हवा की दिशा पश्चिम होने की संभावना है।

जानकारी मिली है कि हवा की दिशा बदलने के साथ ही इसकी गति 15 किलोमीटर प्रति घंटे तक की हो सकती है।इससे दिल्ली की हवा में धूल कणों की मात्रा में इजाफा होगा और वायु गुणवत्ता की स्थिति पहले की तुलना में खराब होगी।

वायु गुणवत्ता सूचकांक
* 0 से 50 तक अच्छा
* 51 से 100 तक संतोषजनक
* 101 से 200 तक मध्यम
* 201 से 300 तक खराब
* 301 से 400 तक बेहद खराब
* 401 से 500 तक गंभीर
* 501 से ऊपर आपात स्थिति

बीते ढाई महीने में दिल्ली की वायु गुणवत्ता ज्यादातर समय संतोषजनक श्रेणी में रही है।शनिवार को केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के मुताबिक औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 98 के अंक पर यानी संतोषजनक श्रेणी में रहा।हालांकि,अब सूचकांक में बढ़ोतरी के संकेत मिल रहे हैं और अगले सप्ताह इसके खराब श्रेणी में जाने की आशंका है।

खेतों में पंजाब और हरियाणा के पराली जलाए जाने के संकेत मिलने लगे हैं।सप्ताह भर पहले भी उपग्रहों के जरिए मिले डाटा से पराली जलाने की इक्का-दुक्का घटनाएं सामने आई थीं,लेकिन बीते 48 घंटों में इसमें तेजी आई है।दिल्ली में आने वाली हवा की दिशा भी पश्चिम से होने के चलते पराली का धुआं अगले सप्ताह दिल्ली आ सकता है।इससे दिल्ली की वायु गुणवत्ता खराब होगी और लोगों को खराब हवा में सांस लेनी पड़ सकती है।

शनिवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान दोनों ही सामान्य से कम रिकॉर्ड किया गया।अगले तीन-चार दिनों में भी तापमान 34 डिग्री से नीचे बने रहने का अनुमान है।सफदरजंग स्थित मौसम केंद्र में दिन का अधिकतम तापमान 32.6 डिग्री सेल्सियस और न्यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया।उपरोक्त दोनों ही तापमान सामान्य से एक-एक डिग्री कम हैं।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV