विदेश

अमेरिका और उ. कोरिया के बीच बातचीत जारी रहना अत्यधिक जरूरी है .

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की जून 2018 से तीन मुलाकात हो चुकी हैं लेकिन बेनतीजा रही हैं। जबकि उत्तर कोरिया लगातार मांग करता रहा है कि पहले उसके ऊपर लगे अंतरराष्ट्रीय प्रतिबंध हटाए जाएं। शनिवार को उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया ने चेतावनी दी कि उसके देश में मानवाधिकारों की खराब स्थिति बताने के लिए अमेरिका को दुष्परिणाम भुगतने होंगे।

Loading...

अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच वार्ता बहाल की जानी चाहिए। तीन बार की शिखर वार्ता से कोई नतीजा न निकलने के बाद उत्तर कोरिया ने अमेरिका से किसी तरह की वार्ता न करने का एलान कर दिया है और अब वह नए सिरे से हथियारों के परीक्षण कर रहा है।

उत्तर कोरिया के लिए अपमानजनक शब्दों के इस्तेमाल से कोरियाई प्रायद्वीप में तनाव बढ़ेगा। इसीलिए दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति ने चिनफिंग से हालात बिगड़ने से रोकने का अनुरोध किया है। चीन उत्तर कोरिया को कूटनीतिक मामलों में समर्थन देता है और उसका खास सलाहकार है।

यह बात दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन ने चीन के राष्ट्रपति शी चिनफिंग से कही है। मून इन दिनों चीन के दौरे पर हैं। मंगलवार को चेंगडू में होने वाली चीन, दक्षिण कोरिया और जापान की त्रिपक्षीय वार्ता में भी उत्तर कोरिया पर चर्चा हो सकती है।

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV