Main Slideउत्तर प्रदेशदिल्ली एनसीआरदेशप्रदेशबड़ी खबरविदेश

राष्ट्रपति कोविंद बोले की अंग दान को प्रोत्साहित करने की है आवश्यकता

बतादे राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने अंगदान के लिए लोगों में जागरुकता फैलाने पर जोर देते हुए कहा कि खराब जीवनशैली के कारण लीवर संबंधी बीमारी बढ़ती है। कोविंद ने यहां ILBS के 10वें स्थापना दिवस और सातवें दीक्षांत समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि देश में हर वर्ष करीब दो लाख लीवर प्रत्यारोपण की जरूरत होती है, जबकि कुछ हजार लीवर ही प्रत्यारोपित हो पाते हैं.राष्‍ट्रपति ने कुछ और सार्वजनिक अस्पतालों में लीवर प्रत्यारोपण कार्यक्रम शुरू करने पर जोर देते हुए कहा कि आईएलबीएस इस संबंध में आवश्यक विशेषज्ञता प्रदान कर सकता है।

Loading...

उन्होंने कहा कि सबसे कठिन काम अंग दान को प्रोत्साहित करना और इसके बारे में लोगों में जागरुकता फैलाना जरूरी है। किसी की जान बचाने के लिए आवश्यक अंग और उसकी उपलब्धता के बीच एक काफी अंतर है। अंग दान के बारे में जागरूकता की कमी की वजह से दानदाताओं की कमी रहती है।उन्होंने आईएलबीएस से आग्रह किया कि वह लीवर दान करने को प्रोत्साहित करने के तरीके बताने के लिए एक रोडमैप तैयार करे ताकि संबंधित प्रक्रिया में सुधार लाया जा सके और वर्तमान की तुलना में अधिक संख्या में लीवर प्रत्यारोपित किए जा सकें।

लीवर की बीमारियां बढ़ने के मामलों का संबंध हमारी खराब जीवनशैली है। वर्तमान में चार भारतीयों में से एक का लीवर के आसपास चर्बी जमा हो जाती और अत्यधिक चर्बी होने के कारण इनमें से 10 प्रतिशत लोग लीवर की बीमारियों के शिकार हो सकते हैं।राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद ने कहा, “जिगर स्थापित करने की आवश्यकता है अधिक सार्वजनिक अस्पताल में प्रत्यारोपण कार्यक्रम, लेकिन शायद सबसे महत्वपूर्ण अंग दान को प्रोत्साहित करना और इसके बारे में जागरूकता फैलाना है। जीवन बचाने के लिए आवश्यक अंगों की आवश्यकता और उपलब्धता के बीच एक बड़ा अंतर है। ”

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV