Main Slideधर्म/अध्यात्मबड़ी खबरमध्य प्रदेश

CM उद्धव ठाकरे ने पाथरी गांव को बताया साईं बाबा का जन्म स्थान

CM उद्धव ठाकरे ने पाथरी गांव को बताया साईं बाबा का जन्म स्थान विरोध में शिरडी बंद का हुआ ऐलान साईं बाबा का जन्म स्थान ये हमेशा से विवाद का विषय रहा है कि साई बाबा का जन्म कब और कहां हुआ है. अब ये बात फिर बड़ा विवाद का विषय बन गई है. दरअसल इस विवाद के पीछे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे की वो घोषणा है, जिसमें उन्होंने महाराष्ट्र के पाथरी गांव को साईं बाबा की जन्मभूमि बताते हुए उसे विकास के लिए 100 करोड़ रुपए देने का ऐलान किया इसी को लेकर रविवार से शिरडी में होटल, आश्रमों समेत दुकानों को बंद करने का ऐलान किया गया है.

Loading...

शिरडी निवासी सभी होटल, दुकान, चाय की दुकानों सहित सब कुछ बंद रखने वाले हैं. मंदिर में कोई भी जाकर दर्शन कर सकता हैं. मंदिर खुला रहेगा. यानी मंदिर में दर्शन तो कर सकते हैं दरअसल पिछले दिनों मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने औरंगाबाद में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा था कि परभणी जिले के नजदीक पाथरी गांव में जिस जगह पर साईं बाबा का जन्म हुआ था, वहां 100 करोड़ रुपए का विकास काम करेंगे और पाथरी गांव में इस प्रोजेक्ट को अमल में लाया जाएगा. मुख्यमंत्री के इस ऐलान के बाद कथित तौर पर साईं बाबा के जन्म स्थान गांव पाथरी के लोग खुशी से झूम उठे और जश्न मनाने लगे.

पहले इस जन्म स्थल को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शिरडी में सार्वजनिक किया था.मुख्यमंत्री ठाकरे के इस बयान के बाद से अहमदनगर जिले के शिरडीवासी आक्रोश में हैं. शिरडी निवासियों का कहना है कि जब तक सरकार यह स्पष्ट नहीं कह देती कि पाथरी में जन्म स्थान होने के कारण यह विकास कार्य नहीं किया जा रहा है, तब तक शिरडी शहर अनिश्चितकालीन के लिए बंद होगा.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV