Main Slideउत्तर प्रदेशबड़ी खबर

लखनऊ के बाद अब मुरादाबाद में भी धरने पर बैठी महिलाएं

नागरिक संशोधन कानून और के खिलाफ विरोध प्रदर्शन जारी है. दिल्ली के शाहीन बाग, लखनऊ के घंटाघर के बाद मुरादाबाद में में कुछ महिलाएं सोमवार शाम सीएए के विरोध में धरने पर बैठ गई. हाथ में नारे लिखी तख्तियां और बैनर लिए ये महिलाएं नागरिकता कानून को वापस लेने की मांग सरकार से कर रहीं हैं

Loading...

सुत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक मोहल्ला रहमत नगर करूला निवासी 6-7 महिलाएं हाथ में नारे लिखी तख्तियां व बैनर लेकर करूला की पुलिया पर पहुंचीं और वहीं बैठ धरने पर बैठ गईं. ये महिलाएं नागरिकता संशोधन कानून केे खिलाफ नारे लगा रहीं थीं और उसे वापस लेने की मांग कर रहीं थीं.

मामला थाना कटघर के संभल रोड का है वही आपको बता दें कि राजधानी लखनऊ के घंटाघर में नागरिक संशोधन कानून और NRC के खिलाफ महिलाएं पिछले कई दिनों से प्रदर्शन कर रही हैं. यहां करीब 413 मुस्लिम महिलाओं ने रोजा रखा तो सैंकड़ों हिंदू बहनों ने वहां यज्ञ किया. प्रदर्शन की सबसे खास बात ये रही कि प्रदर्शन में सिर्फ मुस्लिम महिलाएं ही नहीं हैं बल्कि समाज के तमाम दूसरे धर्मों की महिलाएं भी इस प्रदर्शन में जुट रही हैं.

प्रदर्शन कर रही सुमैया राना कहती हैं कि सरकार को ये लगता है कि कानून से सिर्फ मुसलमानों को दिक्कत है तो योगी जी को यहां आकर देखना चाहिये कि कितनी बड़ी तादाद में यहां दूसरे धर्मों की महिलाएं भी शामिल हैं. सुमैया कहतीं हैं कि सरकार ने हम लोगों के खिलाफ मुकदमें कराकर हमें और मजबूत कर दिया है.

Loading...
loading...

Related Articles

Back to top button
Live TV